मनीला एयरपोर्ट पर फंसे 100 से ज्यादा छात्रों की मदद के लिए पहुंचा भारतीय दूतावास, छात्रों ने वापसी के लिए विशेष विमान भेजने की मांग की

नई दिल्ली/न्यूयॉर्क. कोरोनावायरस का बढ़ता संक्रमण पूरी दुनिया के लिए चुनौती बन गया है। कई देश अपनी सीमाएं दूसरे देश के नागरिकों के लिए बंद कर चुके हैं। सैकड़ों भारतीय अभी भी दुनिया के कुछ देशों में फंसे हैं। इसी बीच, जब फिलीपींस सरकार ने बुधवार को भारतीय छात्रों को 72 घंटे में देश छोड़ने का आदेश दिया तो वहां मौजूद छात्रों में अफरा-तफरी कामाहौल बन गया। आनन-फानन में100 से ज्यादा छात्र मनीला एयरपोर्ट पर पहुंचे। मगर, उन्हें वहां से आगे जाने के लिए रोक दिया गया। परेशान छात्रों ने मदद के लिए सोशल मीडिया के जरिए भारत सरकार से अपील की, लेकिन कई प्रयास के बाद भी बात नहीं बन पाई।

इसके बाद,छात्रों ने न्यूयॉर्क में 32 सालसे रह रहे सामाजिक कार्यकर्ता प्रेम भंडारी से वॉट्सएप के जरिए संपर्क किया। उन्हें पूरा मामला बताया। इसके बाद भंडारी को एयरपोर्ट से वीडियो बनाकर भेजा। इसके बाद भंडारीने भारत सरकार के विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला से संपर्क करके छात्रों की मदद की अपील की। श्रृंगला के तुरंत हस्तक्षेप करने से मनीला स्थित भारतीय दूतावास हरकत में आया। इसके बाद दूतावास के अधिकारी भारतीय छात्रों की मदद करने एयरपोर्ट पहुंचे। उन्होंने वहां मौजूद छात्रों को भोजन करवाया और उनके वहां से निकलने की व्यवस्था करवाई।

भंडारी के मुताबिक, मनीला में एक हजार से ज्यादा छात्र फंसे

विदेश सचिव श्रृंगला से बात करने के बाद सामाजिक कार्यकर्ताभंडारी ने सिविल एविएशन सेक्रेट्री प्रदीप सिंह खरोला से बात करके एयरपोर्ट पर फंसे छात्रों को निकालने और अन्य भारतीयों को भारत भेजने के लिएविशेष विमान की व्यवस्था किए जाने की गुहार लगाई। भंडारी ने बताया कि फिलहाल यहां भारत के अलग-अलग राज्यों से आए 1 हजार से अधिक छात्र फंसे हुए हैं।

भारतीय विदेश मंत्रालय के द्वारा कोरोनावायरस को लेकर तैयार किया गया कंट्रोल रूम के प्रभारी अधिकारी महेश कुमार से भंडारी ने बात की। उन्होंने कुमार को कई भारतीय छात्रों के नंबर दिए। अधिकारी कुमार ने तुरंत छात्रों से बात की तथा मनीला स्थित दूतावास पर प्रथम सचिव मनीषा से बात करके छात्रों से संपर्क करने को कहा। भंडारी और कुमार ने छात्रों के अभिभावकों से बात करके उन्हें आश्वस्त किया कि छात्र सुरक्षित हैं।

टाइमलाइन: न्यूयॉर्क के समयानुसार

रात 9 बजकर 43 मिनट: भारतीय छात्रों ने न्यूयॉर्क में सामाजिक कार्यकर्ता प्रेम भंडारी से वॉट्सएप पर मदद मांगी।
रात10 बजे: भारतीय छात्रों ने मनीला एयरपोर्ट से भंडारी को वीडियो मैसेज भेजा।
रात10 बजकर 27 मिनट: सामाजिक कार्यकर्ता भंडारी की पत्नी रेखा भंडारी ने वीडियो मैसेज ट्विटर पर पोस्ट किया।
रात10 बजकर 28 मिनट: भारतीय छात्रों ने इसे रिट्वीट करना शुरू किया।
रात10 बजकर 43 मिनट: विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला से संपर्क किया गया और भारतीय छात्रों की मदद के लिए मांग की गई।
रात10 बजकर 45 मिनट: विदेश सचिव श्रृंगला ने तुरंत जवाब दिया।
रात10 बजकर 48 मिनट: सामाजिक कार्यकर्ता भंडारी ने सिविल एविएशन सेक्रेट्री प्रदीप सिंह से तत्काल मदद की मांग की।

रात10 बजकर 52मिनट: सिविल एविएशन सचिव प्रदीप सिंह ने भंडारी से संपर्क साधा।
रात1 बजकर 35 मिनट: सामाजिक कार्यकर्ता भंडारी ने विदेश मंत्रालय के कंट्रोल रूम पर तैनात अधिकारी सेबात की और परेशान छात्रों के कॉन्टेक्ट नंबर दिए।
रात1 बजकर 47 मिनट: विदेश मंत्रालय के कंट्रोल रूम ने मनीला में मौजूद भारतीय छात्रों से संपर्क किया।
रात2 बजे: मनीला में भारतीय दूतावास ने छात्रों से संपर्क किया।
रात2 बजकर 19 मिनट:दूतावास के अधिकारी मनीला एयरपोर्ट पर फंसे छात्रों से संपर्क करनेपहुंचे। उन्होंने छात्रों को जरूरी चीजें दीं।
सुबह 7 बजकर 40 मिनट: मनीला में भारतीय दूतावास ने नई एडवायजरी जारी की।
सुबह 8 बजे : दूतावास ने छात्रों की मदद की और फूड मुहैया करवाया।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
मनीला एयरपोर्ट पर फंसे भारतीय छात्र और लोग। -फोटो ट्विटर से


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2U1WGHK

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस