अमेरिका में 11 साल बाद हेल्थ के लिए नेशनल इमरजेंसी लागू, इमरजेंसी के बाद कोरोना से लड़ने के लिए ज्यादा फंड, अतिरिक्त कर्मचारी और सुविधाएं होंगी

भास्कर रिसर्च डेस्क. अमेरिका में कोरोनावायरस के अब तक 2,170 मामले आ चुके हैं, 48 लोगों की जान गई है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते अमेरिका में नेशनल इमरजेंसी घोषित कर दी है। यह इमरजेंसी स्टैनफोर्ड एक्ट के तहत घोषित की गई है। इमरजेंसी लागू होने के बाद फेडरल गवर्नमेंट (संघीय सरकार) देश के सभी 50 राज्यों को 50 अरब डॉलर (करीब 3.69 लाख करोड़ रुपए) तक की मदद दे सकेगी। इससे पहले अप्रैल 2009 में स्वाइन फ्लू के चलते बराक ओबामा ने हेल्थ इमरजेंसी का ऐलान किया था।


ट्रम्प ने नेशनल इमरजेंसी एक्ट के तहत भी इसे इमरजेंसी घोषित किया है। इससे हेल्थ और ह्यूमन सर्विस डिपार्टमेंट स्वास्थ्यसुविधाएं, मेडिकलऔर दूसरी सुविधाओं के लिए नियमों को बदल सकेगा या उसमें छूट दे सकेगा। इमरजेंसी घोषित होने के बाद कोरोनावायरस से लड़ने के लिए फेडरल गवर्नमेंटके पास ज्यादा फंड के साथ, अतिरिक्त कर्मचारी और सुविधाएं होंगी।

स्टैफोर्ड एक्ट से क्या होगा? लोगों को तुरंत वित्तीय सहायता और इलाज की सुविधा मिलेंगी, अस्थाई अस्पताल खोले जा सकते हैं

  • स्टैफोर्ड एक्ट के तहत अमेरिकी प्रशासन देश के सभी 50 राज्यों, नगर पालिकाओं, अस्पतालों और आम लोगों को कई तरह की मदद दे सकता है।
  • एसोसिएशन ऑफ स्टेट एंड टेरिटोरियल हेल्थ ऑफिशियल्स के अनुसार स्टैफोर्ड एक्ट के तहत अमेरिकी लोगों को तुरंत वित्तीय मदद दी जा सकेगी।
  • आम लोगों को हाउसिंग और आपदा के समय दी जाने वाली सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी।
  • महामारी में एक्ट के लागू होने से फेडरल गवर्नमेंटपूरे देश में नागरिकों को सीधे आपातकालीन चिकित्सा की सुविधा दे सकती है।
  • गहन देखभाल के लिए अस्पतालों में बेड की मांग को देखते हुए अस्थायी अस्पताल भी खोले जा सकते हैं।
  • अमेरिकी सरकार नागरिकों को भोजन, पानी, दवा और अन्य सुविधाएं दे सकती है।
  • इस दौरान इस्तेमाल होने वाले सार्वजनिक सुविधा केंद्रों के खर्च को सरकार वापस करती है। ऐसे सुविधा केंद्रों में अस्पताल, स्कूल और कस्टोडियल केयर फैसिलिटीजशामिल हैं।
  • सुविधा केंद्रों को लागत का 75% फेडरल गवर्नमेंटऔर 25% उनके संबंधित राज्यों से मिलता है।

नेशनल इमरजेंसी क्या है? राष्ट्रपति इसे किसी विशेष कार्रवाई के लिए लागू करते हैं
अमेरिका में नेशनल इमरजेंसी वह स्थिति है, जब संघीय सरकार किसी विशेष कार्रवाई के लिए इसे लागू करती है, इसे सामान्य स्थिति में लागू नहीं किया जा सकता है। विभिन्न कानूनी जरूरतों के लिए 1976 में नेशनल इमरजेंसी एक्ट को लागू किया गया था। नेशनल इमरजेंसी अमेरिकी राष्ट्रपति लागू कर सकते हैं।


कितनी बार लागू हुई? अमेरिका में 44 साल में अब तक 61 बार नेशनल इमरजेंसी लागू की गई है, इनमें 34 अभी भी जारी हैं
एक्ट के आने के बाद से अब तक अमेरिका में विभिन्न विषयों के लिए 61 बार नेशनल इमरजेंसी लागू की गई है। इनमें 34 अभी भी जारी हैं। 27 इमरजेंसी रद्द की जा चुकी हैं। राष्ट्रपति हर साल इन इमरजेंसी की समीक्षा करते हैं, जरूरत नहीं होने पर उन्हें खत्म कर देते हैं, नहीं तो जारी रखते हैं। अधिकतर इमरजेंसी विदेशी हित, अंतरराष्ट्रीय विवाद और आंतरिक संकट की स्थिति में ही लगाई गई हैं। ट्रम्प ने तीसरी बार इमरजेंसी लगाई है। इससे पहले मैक्सिको बॉर्डर पर दीवार बनाने और राष्ट्रीय सुरक्षा के मद्देनजर नेशनल इमरजेंसी लगाई थी।

कितनी तरह की इमरजेंसी हैं? अमेरिका में 136 तरह की इमरजेंसी हैं, अब तक सिर्फ 60 लागू हुई हैं
यूएस नेशनल इमरजेंसी एक्ट के तहत अमेरिकी संसद कांग्रेस को 136 तरह की इमरजेंसी पावर हासिल है। मार्च 2020 तक के आंकड़ों के अनुसार अमेरिका में अब तक 60 तरह की नेशनल इमरजेंसी लगाई जा चुकी हैं। अमेरिका में सबसे ज्यादा इमरजेंसी ट्रेड, सैंक्शन और मिलिट्री को लेकर लगाया गया है। पब्लिक हेल्थ, लीगल और हथियारों को भी लेकर इमरजेंसी लगाई गई है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Coronavirus US National Health Emergency Latest News Updates America Novel Corona COVID-19; Know Understand What It Means


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2wZ4CRm

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस