अमेरिका के ग्रामीण इलाकों में विनाशक हो सकती है कोविड-19 महामारी, यहां न पर्याप्त डॉक्टर और अस्पताल, ना ही सड़कें उपलब्ध

वॉशिंगटन. संयुक्त राज्य अमेरिका के ग्रामीण इलाकों में कोरोनोवायरस महामारी शहरों के मुकाबले ज्यादा कहर बरपा सकती है। यहांपर्याप्त संख्या में डॉक्टर और अस्पतालनहीं हैं,ना ही सड़कें उपलब्ध हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका में अब तक कोरोनावायरस के एक लाख 35 हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। इनमें दिनों-दिन बढ़ोतरी हो रही है। महामारी का केंद्र न्यूयॉक शहर है। यहीं सबसे ज्यादा संक्रमित हैं। इसे अलावा अर्कांसस, मिसिसिपी, जॉर्जिया और साउथ कैरोलिना जैसे मिडवेस्ट और साउथ के ग्रामीण अंचलों में भी कोरोनावायरस के संक्रमण फैलने के संकेत मिले हैं।

फैमिली फिजिशियन और कोडिक इलाके के नेटिव एसोसिएशन के डायरेक्टर एलिस प्लेटनिकॉफ ने कहा, कुछ क्षेत्रों में हमारी क्षमता सीमित होगी, न केवल उपकरणों के मामले में बल्कि कर्मचारियों में भी। जब कोरोनावायरस से संक्रमण के मामले बढ़ते हैं, तब हमारी चिंताओं काबढ़ना लाजमी है। शुक्रवार को एलास्का में 85 मामले सामने आए और यहां कोरोनावायरस से पहली मौत भी हुई।

अलास्का में 59,000 लोगों को मेडिकल फेसेलिटी की जरूरत होगी
विशेषज्ञों के मुताबिक, राज्य की 737500 जनसंख्या का 40 से 70% हिस्सा कोरोनावायरस की चपेट में आ सकता है। प्राथमिक रिपोर्ट के आधार पर 20% जनसंख्या यानि 59,000 लोगों के लिए चिकित्सा सुविधा की जरूरत होगी। अलास्का में 1500 बेड वाला जनरल हॉस्पिटल है। कुछ स्थानों पर नया मेडिकल सेट-अप तैयार करने में दूसरी जगहों के मुकाबले वक्त ज्यादा लग सकता है। जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के शोध डेटा के मुताबिक, चर्चित पर्यटनस्थलों जैसे की ब्लेन काउंटी, इडाहो, होम टू सन वैली, न्यूयॉर्क के आसपास के इलाकेपहले से ही कोरोनावायरस के संक्रमण से अधिक प्रभावित हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
न्यूयॉर्क के आसपास के इलाकों में पहले ही कोरोनावायरस का संक्रमण अधिक फैला है। फोटो फाइल


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3bzvFBx

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान