चीन, इटली, स्पेन, फ्रांस, स्पेन समेत 20 देशों में लॉकडाउन, 120 करोड़ लोग घरों में कैद

नई दिल्ली. भारत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 मार्च को जनता कर्फ्यू लगाने की अपील की है। वहीं, दुनिया में कई देश ऐसे हैं, जहां पहले सी ही जनता कर्फ्यू चल रहा है। चीन, डेनमार्क, अल-सल्वाडोर, फ्रांस, आयरलैंड, इटली, जर्मनी, ब्रिटेन, पोलैंड, स्पेन, बेल्जियम, अर्जेंटीना, वेटिकन सिटी, नार्वे, ईरान, दक्षिण कोरिया, हांगकांग, इंडोनेशिया समेत करीब 20 देशों ने लॉकडाउन लागू किया हुआ है। अलग-अलग मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दुनिया में लॉकडाउन के चलते करीब 120 करोड़ लोग घरों में रहने को मजबूर हैं। इसके अलावा करीब 50 देशों ने किसी शहर या एक सीमित इलाके में लॉकडाउन लागू किया हुआ है। अमेरिका ने शुक्रवार को कैलिफोर्निया में लॉकडाउन लागू कर दिया। इसके बाद यहां 4 करोड़ लोग घरों में कैद कर दिए गए हैं।


इस साल जनवरी में सबसे पहले चीन ने हुबेई प्रांत के वुहान में लॉकडाउन लागू किया था। यहीं से कोरोनावायरस शुरू हुआ था। अब दुनिया में कोरोना से सबसे ज्यादा मौतें इटली में हो रही हैं। यहां प्रधानमंत्री ग्यूसपे कोंते ने 10 मार्च को पूरे देश में लॉकडाउन लगा दिया था। इसके बाद से यहां 6 करोड़ लोग घरों में कैद हैं। यह लॉकडाउन तीन अप्रैल तक रहेगा। इस दौरान ट्रैवेल करने, चर्च जाने पर, काम पर जाने पर रोक लगा दी गई। स्पेन, फ्रांस ने भी लोगों को घर में रहने का आदेश जारी किया हुआ है। फ्रांस में चीन से बाहर सबसे बड़ा लॉकडाउन है। फ्रांस में 6 करोड़ 70 लाख लोग घरों में कैद हैं। ब्रिटेन के लंदन में लॉकडाउन किया गया है। चीन में करीब 78 करोड़ लोगों को लॉकडाउन किया गया है। हालांकि अब यहां कुछ ढ़ील दी जाने लगी है।

कोरोनावायरस अब तक दुनिया के 150 से ज्यादा देशों में फैल चुका है। इसकी चपेट में 2.44 लाख लोग आ चुके हैं। 10,184 लोगों की जान गई है।

तस्वीर बेल्जियम की है। यहां भी लॉकडाउन लागू कर दिया गया है।

डब्ल्यूएचओ के मुताबिक लॉकडाउन कोरोना को फैलने से रोकने में कारगर
डब्ल्यूएचओभी कह चुका है कि दुनिया के सभी देशों को सोशल डिस्टेंशिंग बढ़ाना चाहिए। इसके अलावा लोगों के बाहर निकलने पर प्रतिबंध लगाना होगा। लॉकडाउन से कोरोनावायरस को फैलने से रोकने में मदद मिलेगी। यह दुनिया के सबसे बेहत विकल्प है।

तस्वीर कुआलालंपुर की है। यहां लॉकडाउन को लागू कराने के लिए आर्मी बुलाई गई है।

दुनिया में कोरोनावायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में बंद का हाल
चीन: इस साल जनवरी के अंत में चीन ने दुनिया के इतिहास में सबसे बड़ा लॉकडाउन लगाया। 20 राज्यों और 16 बड़े शहरों को एक साथ बंद कर दिया गया। डब्ल्यूएचओ ने माना है कि चीन ने लॉकडाउन के चलते कोरोनावायरस पर काबू पाने में कामयाबी पाई है।
इटली: कोरोनावायरस से इटली में 3,405 मौतें हो चुकी हैं। यह चीन(3,245) से भी ज्यादा है। इटली के प्रधानमंत्री कोंते ने भी खुद को घर में आइसोलेट किया हुआ है। यहां सभी स्टेडियम, इवेंट, स्कूल, यूनिवर्सिटी, म्यूजियम, कल्चरल सेंटर्स, स्वीमिंग पूल्स और स्पा बंद हैं।
स्पेन: यूरोप में लॉकडाउन लागू करने वाला स्पेन दूसरा देश बना। यहां 15 मार्च से अगले 15 दिन तक लॉकडाउन लागू किया गया है। इस दौरान 4.7 करोड़ लोग घरों में ही कैद रहेंगे।
फ्रांस: इसी सोमवार को फ्रांस ने 15 दिन के लिए लॉकडाउन लागू कर दिया। राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कहा कि घर से बाहर निकलने वालों को सजा दी जाएगी। लोगों को घरों में रोकने के लिए सेना को तैनात किया गया है। फ्रांस के 1.3 लाख लोग विदेश में फंसे हैं।
जर्मनी: कोरोना के चलते जर्मनी ने अपने 16 राज्यों में दुकान, चर्च, स्पोर्ट्स, बार, कल्ब को बंद कर दिया है। देश की सभी सीमाएं भी बंद हैं।

लॉकडाउन के चलते लंदन के सुपर मार्केट खाली हो गए हैं।

जहां सीमित लॉकडाउन है: इन देशों ने स्कूल, कॉलेज, रेस्टोरेंट, बार, मॉल्स आदि को बंद किया है
भारत, पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया, मोरक्को, घाना, नामीबिया, दक्षिण अफ्रीका, बोलीविया, ब्राजील, कनाडा, चिली, कोलंबिया, कोस्टा रिका, इक्वाडोर, ग्वाटेमाल, मैक्सिको, पेरू, उरूग्वे, कंबोडिया, म्यांमार, नेपाल, फिलीपींस, ताइवान, केन्या, प्यूर्टो रिको, चेक रिपब्लिक, मलेशिया, सिंगापुर, थाईलैंड आदि।

तस्वीर हांगकांग की है। यहां एयरपोर्ट लगभग बंद कर दिया गया है। यहां शुक्रवार 40 से ज्यादा नए केस आए हैं।


जिन देशों ने सीमाओं को बंद किया: इन देशों ने अपनी सीमाओं को बंद कर दिया है
कनाडा, कोलंबिया, भारत, पाकिस्तान, डेनमार्क, जर्मनी, कुवैत, लिथुआनिया, दक्षिण कोरिया, नार्वे, पेरू, कतर, रूस, सऊदी अरब, स्लोवाकिया, यूक्रेन आदि।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
तस्वीर जर्मनी के नाइस शहर की है। यहां लॉकडाउन के चलते बीच पूरी तरह खाली हो गया है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3a6bxXj

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस