चीन ने कहा- कोरोनावायरस को वुहान लाने में अमेरिकी सेना का हाथ होने की आशंका; दुनिया में अब तक 4983 मौतें

बीजिंग/वॉशिंगटन. चीन ने कोरोनावायरस को वुहान लाने में अमेरिकी सेना का हाथ होने की आशंका जताई। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने गुरुवार रात ट्विटर पर कहा, “कोरोनावायरस पर अमेरिका पारदर्शी रवैया क्यों नहीं अपना रहा? ये भी तो हो सकता है कि ये वायरस अमेरिकी सेना की वजह से हमारे वुहान शहर तक पहुंचा हो।” झाओ के इस बयान के एक दिन पहले अमेरिका ने आरोप लगाया था कि चीन ने कोरोनावायरस पर एक्शन लेने में काफी देर कर दी। ट्रम्प प्रशासन ने ये भी कहा था चीन की लेटलतीफी के चलते ही कोरोनावायरस दूसरे देशों तक फैला। इस बीच, शुक्रवार को इस संक्रमण से मरने वालों की संख्या 4983 तक पहुंच गई।

अमेरिका के एनएसए का आरोप
अमेरिका और चीन के बीच कोरोनावायरस पर आरोप-प्रत्यारोप का नया दौर बुधवार को शुरू हुआ। अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रॉबर्ट ओ’ब्रायन ने चीन पर सीधा हमला किया। कहा, “कोरोनावायरस पर चीन ने देर से एक्शन लिया। यही वजह है कि दुनिया दो महीने से इसके दुष्परिणाम झेल रही है। अगर ये दो महीने पहले ही पता लग जाता तो इससे निपटने की तैयारी की जा सकती थी।”

चीन को साजिश का शक
ओ’ब्रायन के बयान के बाद चीन का सख्त रुख सामने आया। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान दो ट्वीट किए। कहा, “अमेरिका पारदर्शी रवैया क्यों नहीं अपनाता। उसने अपने हॉस्पिटल्स के नाम क्यों नहीं बताए। हो सकता है अमेरिकी सेना ही कोरोनावायरस को हमारे वुहान शहर लाई हो। अब आप अपना डेटा सार्वजनिक करें। अमेरिका हमसे क्यों सफाई चाहता है?” अमेरिका पर बेहद गंभीर आरोप लगाने वाले झाओ ने इससे जुड़ा कोई सबूत नहीं दिया।

अमेरिकी रवैया गैरजिम्मेदाराना
मंगलवार को चीनी विदेश मंत्रालय के एक और प्रवक्ता गेंग शुआंग ने भी कोरोनावायरस पर अमेरिकी रवैये की आलोचना की थी। गेंग ने कहा था, “अमेरिकी अधिकारी कोरोनावायरस को लेकर जिस तरह की बयानबाजी कर रहे हैं वो बेहद अनैतिक और गैरजिम्मेदाराना है। इस वक्त तो अमेरिका को अपनी ताकत इस वायरस के संक्रमण को रोकने और सहयोग बढ़ाने पर लगानी चाहिए। चीन पर आरोप लगाने से कुछ हासिल नहीं होगा।” बता दें कि कोरोनावायरस सबसे पहले चीन के वुहान शहर में ही सामने आया था। अब तक 111 देशों में इसका संक्रमण फैल चुका है। शुक्रवार सुबह 11 बजे तक दुनियाभर में कोरोनावायरस के कुल 1,34,769 मामले सामने आए थे। 4,983 लोगों की मौत हो चुकी है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
यह चित्र चीन के वुहान का है। 10 मार्च को कोरोनावायरस के सफल इलाज के बाद लोगों को बस में उनके घर पहुंचाया गया। हॉस्पिटल के मेडिकल स्टाफ ने इन मरीजों को सैल्यूट किया।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2w5ctfP

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस