डॉक्टरों के पास मास्क और ग्लव्स तक नहीं, हाथ और सिर पर पॉलिथिन पहनकर कर रहे मरीजों का इलाज

इस्लामाबाद/कराची. पाकिस्तान में शनिवार दोपहर तक कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 1408 हो गया। 11 लोगों की मौत हो चुकी है। जनता का दबाव ऐसा कि इमरान सरकार संक्रमण पर काबू पाने के लिए लॉकडाउन तक नहीं कर पा रही। सेना सड़कों पर उतारी, लेकिन यह कदम भी कारगर साबित नहीं हुआ। दो डॉक्टर पॉजिटिव पाए गए हैं। यहां डॉक्टरों और नर्सिंग स्टाफ के पास मास्क, ग्लव्स और सैनेटाइजर जैसी बुनियादी चीजें तक नहीं हैं। एक डॉक्टर ने बताया कि वो सिर और हाथों पर पॉलिथिन पहनकर मरीजों का इलाज कर रहा है। उसने इसकी तस्वीरें भी शेयर कीं।

कैसे होगा कोरोना काबू?
खैबर पख्तूनख्वा में 180 संक्रमित मिल चुके हैं। 2 की मौत हुई है। राज्य में इमरान की पार्टी पीटीआई की सरकार है। लेकिन, सरकारी अस्पताल भगवान भरोसे चल रहे हैं। एक डॉक्टर आमिर अली खान ने ‘जियो न्यूज’ से कहा, “हम कैसे कोरोना को काबू में करेंगे। आम अवाम को छोड़िए। डॉक्टरों और नर्सों के पास तक मास्क, ग्लव्स और सैनेटाइजर्स नहीं हैं। दिन में 40 से ज्यादा मरीजों की जांच करते हैं।”

पाकिस्तान के डॉक्टर आमिर अली की यह तस्वीर वहां स्वास्थ्य सुविधाओं का हाल बताने के लिए काफी है।

सिर पर सफेद और हाथों में हरी पॉलिथिन

आमिर के दो फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। इनमें वो सिर पर मास्क की जगह ट्रांसपेरेंट पॉलिथिन लगाए हैं। हाथों में ग्लव्स की जगह हरे रंग की पॉलिथिन है। आमिर ने कहा, “ये कैसे बंदोबस्त हैं? दो डॉक्टर ही पॉजिटिव हैं। मैंने सरकार और लोकल एडमिनिस्ट्रेशन को कई खत लिखे। कोई कुछ सुनने ही तैयार नहीं है। सच्चाई ये है कि सरकार ने हमें बहुत बड़े खतरे में डाल दिया है। कोई भी संक्रमित हो सकता है। जरा सोचिए, डॉक्टर ही संक्रमित हो गए तो मरीजों का इलाज कौन करेगा। लेकिन, यहां कोई सुनने-समझने के लिए तैयार ही नहीं।”



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
डॉक्टर आमिर की यह तस्वीर जियो न्यूज ने जारी की है। उनका सिर और हाथ पॉलिथिन से ढंके नजर आ रहे हैं।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/33SbrAh

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस