ब्रिटेन के राजकुमार हाथ मिलाने के बजाए नमस्ते करते थे, सोशल डिस्टेंस भी रखते थे; फिर भी चपेट में आ गए

लंदन. ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्स कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। उनकी पत्नी कैमिला को भी आइसोलेट कर दिया गया है।कैमिला की रिपोर्ट निगेटिव आई है। माना जा रहा है कि 71 साल के प्रिंस ऑफ वेल्स को संक्रमण मोनाको के प्रिंस एल्बर्ट से हुआ है। हालांकि, प्रिंस चार्ल्स शुरुआत से ही बहुत सावधानी बरतते आए हैं। चाहे वह नमस्ते करना हो या फिर सोशल डिस्टेंसिंग। इसके बावजूद वह संक्रमण की चपेट में आ गए। प्रिंस चार्ल्स की प्रिंस एल्बर्ट से मुलाकात 10 मार्च को हुई थी। एल्बर्ट पांच दिन पहले ही कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। प्रिंस चार्ल्स इसके बाद 12 मार्च को अपनी मां और ब्रिटेन की क्वीन एलिजाबेथ द्वितीय से मिले। हालांकि, डॉक्टरों ने बताया है कि उन्हें संक्रमण 13 मार्च को हुआ। तस्वीरों में देखते हैं उनकी 10 मार्च के बाद मौजूदगी।

10 मार्च

लंदन में एक कार्यक्रम के दौरान मोनाको के प्रिंस एल्बर्ट (बाएं लाल घेरे में) के दूसरी ओर बैठे प्रिंस चार्ल्स (दाएं लाल घेरे में)। प्रिंस अल्बर्ट को पांच दिन पहले 20 फरवरी को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। डॉक्टरों का कहना है कि ऐसे में उन तक वायरस का पहुंचना असंभव लगता है।

11 मार्च

प्रिंस ट्रस्ट अवार्ड 2020 के दौरान टीवी रिप्रेजेंटेटर आंट और डेक से मिलने के दौरान प्रिंस चार्ल्स ने हाथ मिलाने से मना कर दिया था। इस दौरान उन्होंने नमस्ते किया था। हालांकि, यह हफ्ता प्रिंस चार्ल्स के लिए काफी व्यस्त रहा लेकिन उन्होंने एहतियात बरता।


12 मार्च

बंकिघम पैलेस में एक सम्मान समारोह के दौरान पिंस चार्ल्स (बाएं)। इस दौरान भी उन्होंने हाथ मिलाने से मना कर दिया और नमस्ते को प्राथमिकता दी।

12 मार्च

लंदन के मेनसन हाउस में डिनर के दौरान मौजूद प्रिंस चार्ल्स। इस आयोजन में वह गेस्ट ऑफ ऑनर थे।


Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
वेस्टमिन्स्टर एबी में 9 मार्च को प्रिंस चार्ल्स अपनी मां क्वीन एलिजाबेथ के साथ।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3amHFGy

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस