हेल्थ केयर के लिए दुनियाभर में मशहूर स्पेन-इटली में हालत बदतर, मास्क-इक्विपमेंट्स की कमी; डॉक्टर और नर्स बोले- हम बर्बाद हो रहे

मैड्रिड. कोरोनावायरस से स्पेन और इटली में स्वास्थ्य सेवाएं बेहद प्रभावित हुईहैं। दुनियाभर में अपने हेल्थ केयर सिस्टम की वजह से मशहूर इन देशों में सुरक्षा उपकरणों, सूट और मास्क तक की किल्लत है। संक्रमण की चपेट में कई डॉक्टर और नर्स भी आ चुकी हैं। मैड्रिड के ला पाज हॉस्पिटल के इमरजेंसी वार्ड में काम करने नर्स पैट्रीशिया ने न्यूज एजेंसी से कहा, ‘‘जब मुझे खांसी शुरू हुई, तब तकमैंहफ्तों से मरीजों की सूखी और भयावह खांसी सुनने की आदी हो चुकी थी। अस्पताल संक्रमित मरीजों से भरा हुआ है।खांसी सुनते-सुनतेहम तंग आ गए हैं।’’


पैट्रिसिया ने यह भी कहा कि मैं ठीक होने के लिए आतुर हैं, ताकि साथियों पर पड़ने वाले ओवरलोड को कुछ कम कर सकूं। स्पेन में संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है और डॉक्टरों की संख्या घट रही है। कई डॉक्टर और नर्स वायरस की चपेट में आ रहे हैं।

डॉक्टर और नर्स बोले- हम बर्बाद हो रहे
कोरोनावायरस ने दुनियाभर के डॉक्टरों के खिलाफ एक तरह का युद्ध छेड़ रखा है। इटली और स्पेन में यह जीतता भी दिख रहा है, जहां सुरक्षा उपकरणों की हफ्तों से कमी है। ला पाज हॉस्पिटल में पैट्रीशिया के साथ काम करने डॉक्टरों और नर्सों ने कहा कि हम बर्बाद हो रहे हैं। हमें और डॉक्टर और स्वास्थ्य उपकरण चाहिए। 14 फ्लोर के ला पाज हॉस्पिटल में 1000 बेड हैं। इस हॉस्पिटल के 11 फ्लोर केवल कोविड-19 के मरीजों से भरे हैं। अभी और जगह की जरूरत है। कम संक्रमण वाले मरीजों को हॉस्पिटल के जिम या टेंट हाउस में रखा जा रहा है।


सालों से स्वास्थ्य बजट में कटौती का भी असर
इटली की तरह स्पेन का हेल्थ केयर सिस्टम की भी दुनिया में साख है। कहा जाता है कि यहां के लोगों की लंबी उम्र हेल्थ केयर सिस्टम की वजह से ही है,लेकिनकोरोना महामारी ने इस सिस्टम की कमियों को उजागर कर दिया है।कई सालों से स्वास्थ्य बजट में कटौती की जा रही थी।महामारी के वजन से देशभर के अस्पताल दबे हुए हैं। कई अस्पतालों मेंबेड की कमी होने से मरीजों को जमीन पर लेटे हुए भी देखा जा सकता है। अस्पतालों के कमरे से लेकर गलियारे तक भरे हुए हैं।

स्पेन में 6,500 स्वास्थ्यकर्मी संक्रमित
स्पेन में 6,500 स्वास्थ्यकर्मी संक्रमित हो चुके हैं, जो कुल संक्रमितों 49,515 का 13% हैं। यहां तीन स्वास्थ्यकर्मियों की मौत भी हो चुकी है।इटली में 74,386 संक्रमितों में करीब 7000 स्वास्थ्यकर्मी शामिल हैं। इसमें 19 की मौतहो चुकी है। यहां स्वास्थयकर्मी सरकार से लगाकर सुरक्षा उपकरणों की मांग कर रहे हैं। डॉक्टरों ने एक खुले खत में लिखा, ‘‘हमें अकेला मत छोड़ें, हमारी मदद कर अपनी मदद करें।’’ वर्ल्ड हेल्थ आर्गनाइजेशन के महानिदेशक ने स्वास्थ्यकर्मियों में बड़े पैमाने पर फैल रहे संक्रमण पर चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि अगर डॉक्टर और नर्स संक्रमित हुए तो बडे़ पैमाने पर लोग मारे जाएंगे।स्पेन और इटली में हालात इतने बिगड़ चुके हैं कि यहां पर स्वास्थ्यकर्मियों के लिए सूट और मास्क भी उपलब्ध नहीं हैं। कई स्वास्थ्यकर्मी घर में प्लास्टिक का सूट बनाकर उसे इस्तेमाल में ला रहे हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
स्पेन के बर्गोस में एक मरीज को अस्पताल पहुंचाने के बाद अपने हाथ सैनिटाइज करती स्वास्थ्यकर्मी।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/33Np43E

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान