आईएस में शामिल होने की योजना बना रहा पाकिस्तानी डॉक्टर गिरफ्तार, आतंकी संगठन के लिए लड़ना चाहता था

वॉशिंगटन. पाकिस्तान के एक डॉक्टर को आतंकी संगठन आईएसआईएस को मदद करने के आरोप में गुरुवार को गिरफ्तार किया गया। कानून विभाग के मुताबिक, डॉ. मोहम्मद मसूद को मिन्नेपोलिस सेंट पॉल इंटरनेशनल एयरपोर्ट से पकड़ा गया। वह लॉस एंजिल्स जाने के लिए विमान में चढ़ने की तैयारी में था। फेडरल इन्वेस्टिगेशन ब्यूरो (एफबीआई) की टास्क फोर्स लंबे समय से डॉ. मसूद की गतिविधियों पर नजर रख रही थी।वह जिन लोगों से सीरिया जाने के लिए बातचीत कर रहा था दरअसल वे एफबीआई के मुखबिर थे।

राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए असिस्टेंट अटॉर्नी जनरल जॉन सी. डेमर्स और मिन्नेसोटा के अटॉर्नी एरिका एच मैकडोनाल्ड ने डॉ मसूद के खिलाफ क्रिमिनल कम्प्लेंट की घोषणा की। उसके ऊपर घोषित विदेशी आतंकी संगठन को सामान से मदद करने का आरोप लगाया गया।

डॉ. मसूद रिसर्च कॉर्डिनेटर रह चुका है

डॉ. मसूद को सेंट पॉल मिन्नेपोलिस कोर्ट में मजिस्ट्रेट जज डेविड टी शुल्ज के कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट 24 मार्च को औपचारिक तौरपर इस मामले की सुनवाई करेगा। तब तक उसे हिरासत में रखने का निर्देश दिया गया है। कोर्ट में दर्ज मामले के मुताबिक, मसूद पाकिस्तान का एक लाइसेंस प्राप्त डॉक्टर है। वह एच वन बी वीजा पर अमेरिका आया था। वह मिन्नेसोटा की एक क्लीनिक में रिसर्च कॉर्डिनेटर के तौर पर काम कर चुका है।

जॉर्डन के रास्ते सीरिया जाने की योजना बनाई थी

कानून विभाग के मुताबिक, मसूद ने जनवरी 2020 और मार्च 2020 के बीच आईएसआईएस और इसके नेताओं के प्रति झुकाव दिखाया। उसने सीरिया जाकर इस संगठन के लिए लड़ने की इच्छा जाहिर की। वह पहले जॉर्डन से सीरिया जाना चाहता था। उसने शिकागो से जॉर्डन जाने के लिए टिकट भी ली थी। हालांकि 16 मार्च को कोरोनावायरस के कारण जॉर्डन ने सीरिया से अपनी सीमा बंद कर दी, जिससे वह ऐसा नहीं कर पाया। इसके बाद उसने मिन्नेपोलिस से लॉस एंजिल्स जाने का फैसला किया। जहां वह ऐसे इंसान से मिलने वाला था जो उसे कार्गो शिप से सीरिया भेजने में मदद करने वाला था। हालांकि इससे पहले ही उसे गिरफ्तार कर लिया गया।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
(प्रतीकात्मक फोटो)


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2wlzpHO

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस