अब तक 1 लाख 34 हजार मौतें: अमेरिका में 24 घंटे में सबसे ज्यादा 2,600 लोगों की मौत; डब्ल्यूएचओ पर फिर भड़के ट्रम्प

दुनियाभरमें कोरोनावायरस से अब तक 20 लाख 83 हजार 33 लोग संक्रमित हो चुके हैं। एक लाख 34 हजार 603 की मौत हो चुकी है। राहत की बात ये कि इसी दौरान पांच लाख 10 हजार 171 मरीज स्वस्थ भी हुए। जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के मुताबिक, अमेरिका में 24 घंटे में 2,600 लोगों ने दम तोड़ा है। यहां अब तक कुल 28 हजार 529 जान गई है। वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प बुधवार को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) पर फिर भड़के नजर आए।

कोरोनावायरस : सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देश

देश कितने संक्रमित कितनी मौतें कितने ठीक हुए
अमेरिका 6 लाख 44 हजार 089 28 हजार 529 48 हजार 701
स्पेन 1 लाख 80 हजार 659 18 हजार 812 70 हजार 853
इटली 1 लाख 65 हजार 155 21 हजार 645 38 हजार 092
फ्रांस 1 लाख 47 हजार 863 17 हजार 167 30 हजार 955
जर्मनी 1 लाख 34 हजार 753 3 हजार 804 72 हजार 600
ब्रिटेन 98 हजार 476 12 हजार 868 उपलब्ध नहीं
चीन 82 हजार 341 3 हजार 342 77 हजार 892
ईरान 76 हजार 389 4 हजार 777 49 हजार 933
तुर्की 69 हजार 392 1 हजार 518 5 हजार 674
बेल्जियम 33 हजार 573 4 हजार 440 7 हजार 107

स्रोत:https://ift.tt/37Fny4L

अमेरिका: 30 हजार 206 नए केस मिले

अमेरिका में 24 घंटे में 30 हजार 206 केस मिले हैं। इसके साथ ही देश में संक्रमितों की कुल संख्या छह लाख 44 हजार 89 हो गई है। सबसे ज्यादा संक्रमित न्ययूॉर्क में कुल 11 हजार 586 मौतें हो चुकी हैं, जबकि यहां दो लाख 14 हजार 648 केस की पुष्टि हो चुकी है। बीबीसी के मुताबिक, ट्रम्प ने व्हाइट में मीडिया ब्रीफिंग के दौरान कहा- डब्ल्यूएचओ का फंड रोके जाने की आलोचना की गई। दूसरे देशों ने संगठन का साथ दिया और उस पर भरोसा जाताया। किसी और देश ने कोई पाबंदी नहीं लगाई। सभी जानते हैं कि इटली, स्पेन और फ्रांस में क्या हुआ। संगठन से गलती हुई है और शायद इसे वे जानते हैं।

ट्रम्प ने ने कहा- अगर रूस को कोरोनावायरस मरीजों के उपचार के लिए वेंटिलेटर की जरूरत पड़ती है वह उसकी मदद करेगा। उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि रूस को वेंटिलेटर की जरूरत है। वे कठिन समय से गुजर रहे हैं। हम उनकी मदद करने जा रहे हैं। अमेरिका में जल्द ही वेंटिलेटर का भंडार होगा, जो अन्य देशों की जरूरतों को पूरा करेगा।” उन्होंने कहा, “हम अन्य राष्ट्रों की मदद करेंगे। हम इटली, स्पेन, फ्रांस, अन्य राष्ट्रों की मदद करने जा रहे हैं।” कोरोना का प्रकोप झेल रहे अमेरिका के लिए रूस ने चिकित्सा आपूर्ति का एक प्लैनलोड भेजा है।

अमेरिका: चिकित्साकर्मियों ने मैनहट्टन में बेलेव्यू अस्पताल के बाहर कोरोनावायरस का टेस्ट किया। यहां अब तक 6 लाख 44 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हैं।

जी-20 का कोरोना पीड़ित गरीब देशों की मदद का फैसला सराहनीय: आईएमएफ/ विश्व बैंक

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) और विश्व बैंक ने कोरोना से पीड़ित दुनिया के गरीब देशों के लिए अस्थायी ऋण प्रदान करने के जी-20 समूह के फैसले का स्वागत किया है। विश्व बैंक समूह के अध्यक्ष डेविड मैलाग और आईएमएफ के प्रबंध निदेशक क्रिस्टीना जॉर्जिवा ने बुधवार को एक संयुक्त बयान में कहा, “यह एक शक्तिशाली, तेजी से काम करने वाली पहल, दुनिया के गरीब देशो के लाखों लोगों के जीवन और आजीविका को सुरक्षित रखने में बहुत मदद करेगी।” उन्होंने कहा, “हम इस ऋण पहल का समर्थन करते हैं। हम गरीब देशों की मदद के लिए हर संभव कदम उठाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।”

कनाडा: लॉकडाउन जारी रहेगा
कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने बुधवार को चेतावनी देते हुए कहा कि देश में लॉकडाउन अगले कुछ हफ्तों तक जारी रहेगा। उन्होंने कहा- अगर हम लॉकडाउन जल्दी खोलते हैं तो जो भी हम अभी कर रहे हैं, वह नहीं हो पाएगा। कनाडा में अब तक 28 हजार 379 केस सामने आ चुके हैं, जबकि 1,010 मौत हो चुकी है। यहां अमेरिका और यूरोपीय देशों की तुलना में कम मौतें हुई हैं। लेकिन, ट्रूडो ने कहा कि इसका यह मतलब बिल्कुल नहीं है कि यहां से प्रतिबंध जल्दी हटा दिए जाएं। कम से कम 1 मई तक तो बिल्कुल नहीं।

पाकिस्तान: अब तक 117 की मौत
पाकिस्तान के डॉन न्यूज के मुताबिक, देश में कोरोना के मामलों की संख्या छह हजार 297 हो चुकी है। वहीं, यहां 117 लोगों की मौत हो चुकी है। देश में 1,446 लोग ठीक हो चुके हैं। पंजाब प्रांत से सबसे ज्यादा तीन हजार 16 केस, सिंध प्रांत से 1,688 केस सामने आए हैं। खैबर पख्तूनख्वा में 47 नए मामले मिले। इनमें ज्यादातर तब्लीगी जमात के लोगों का है। वहीं, बलूचिस्तान प्रांत के गवर्नर के अनुसार, यहां कुल 281 केस मिल चुके हैं। मंगलवार को प्रधानमंत्री इमरान खान ने कुछ सेक्टर में राहत देते हुए देशभर में लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा की। देश में इस महीनेभर लॉकडाउन लगा रहेगा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
अमेरिका: न्यूयॉर्क सिटी फायर डिपार्टमेंट के इमरजेंसी मेडिकल टेक्नीशियन एक महिला की सहायता कर रहे हैं, जिसे कोरोना की वजह से सांस लेने में दिक्कत हो रही है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2XDyvSk

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस