कई राज्यों को नहीं मिल रहे लाइफ सेविंग इक्विपमेंट; राष्ट्रपति ट्रम्प का दावा- हमारे पास 10 हजार वेंटिलेटर्स

राष्ट्रपति ट्रम्प ने अमेरिका के लोगों को आश्वासन दिया है कि सरकार के पास 10 हजार वेंटिलेटर है। जिन अस्पतालों में इनकी संख्या कम है, वहां जल्द इसकी आपूर्ति की जाएगी। हालांकि, न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार के स्टॉक में उपलब्ध दो हजार 109 लाइफ सेविंग इक्विपमेंट्स इस्तेमाल में नहीं लाए जा सकते। इनकी देखरेख के लिए किया गया करार पिछले साल ही लैप्स हो गया था। इसके बाद रखरखाव के करार को लेकर विवाद शुरू हो गया। ऐसे में नई कंपनी भी जनवरी तक इस पर काम शुरू नहीं कर सकी। इस बीच कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ने लगे। अब आलम यह है कि अमेरिका के कई राज्यों में इन उपकरणों की कमी महसूस हो रहे हैं। कई राज्यों को कम उपकरण मिल रहे हैं। इनमें से भी कुछ क्षतिग्रस्त हैं।

दरअसल, गृह विभाग के अधिकारियों ने उन्हें मिले कुछ वेंटिलेटर्स के काम नहीं करने की शिकायत की थी। इसके बाद हेल्थ एंड ह्यूमन सर्विस की जांच में यह खुलासा हुआ। अब यह अटकलें तेज हो गई हैं कि प्रशासन स्वास्थ्य उपकरणों के स्टॉक को मेनटेन करने का अपना काम सही ढंग से नहीं कर रहा।

वेंटिलेटर्स की देखरेख का करार रद्द होने के कारणों का पता नहीं

वेंटिलेटर्स में खराबी होने के कारण करार रद्द हुआ या किसी और वजह से इसके बारे में पता नहीं चल सका है। इस बीच मेंटनेस के लिए नया करार प्राप्त करने वाली कंपनी ‘एजिलिटी’ को काम शुरू करने से पहले ही रोक दिया गया। एजिलिटी के चीफ एक्सक्यूटिव लियोनार्ड ने कहा कि पहले करार से उन्हें करार मिलने के बीच इनकी देखरेख के लिए कौन जिम्मेदार था इसकी हमें जानकारी नहीं है। लेकिन, यह हमारी वजह से नहीं हुआ। सरकार से हुए गोपनीय समझौते के तहत मैं यह साझा नहीं कर सकता कि कंपनी फिलहाल कितने वेंटिलेटर्स की देखरेख कर रही है।

न्यूयॉर्क सिटी में स्थित माउंट सिनाई अस्पताल। शहर में कोरोना से अब तक 1400 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।

ट्रम्प का दावा: जल्दहमारे पास जरूरत से ज्यादा वेंटिलेटर्स होंगे

ट्रम्प न सिर्फ अमेरिका में वेंटिलेटर की कमी दूर करने की बात कर रहे हैं, बल्कि उन्होंने दूसरे देशों को भी यह उपलब्ध करवाने का आश्वासन दिया है। उन्होंने बुधवार को कहा, ‘‘जल्द ही हमारे पास जरूरत से ज्यादा वेंटिलेटर्स होंगे। हम हजारों वेंटिलेटर्स का निर्माण कर रहे हैं। हमजल्द ही ऐसी स्थिति में होंगे जब हमारे पास भविष्य में आने वाली किसी तबाही के लिए पर्याप्त स्टॉक होगा। हालांकि मुझे उम्मीद है कि ऐसी कोई स्थिति नहीं आएगी। हम बाकी बचे वेंटिलेटर्स को दुनिया भर में बांटेंगे। हम इटली, फ्रांस, स्पेन और संक्रमण से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों को यह देंगे।

न्यूयॉर्क के ब्रूकलिन स्थित ब्रूकडेल अस्पताल। अमेरिका कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या के बीच वेंटिलेटर्स की कमी से जूझ रहा है।

अमेरिका के कई प्रांतों में स्वास्थ्य उपकरणों की कमी

अमेरिका के कई प्रांतों में वेंटिलेटर्स, मेडिकल गीयर्स और दूसरे स्वाथ्य उपकरणों की कमी हो रही है। कैलिफोर्निया में हाल ही में सरकार की ओर से मिले 170 वेंटिलेटर्स टूटे मिले। इनकी आपूर्ति फेडरल इमरजेंसी मैनेजमेंट एजेंसी ने की थी। सरकारी अधिकारियों ने बुधवार को खुलासा किया कि उनके पास मेडिकल गीयर खत्म हो गए हैं। इनमें मास्क, फेस शील्ड जैसे सामान शामिल हैं। वेंटिलेटर्स में एक्सटर्नल बैटरी में खराबी और ऑक्सीजन हाउस नहीं होने जैसी समस्याएं आ रही हैं। इलिनॉय प्रांत के अधिकारियों के मुताबिक उन्होंने सरकार से चार हजार वेंटिलेटर्स मांगे थे, जबकि 450 ही मिले। इसी तरह न्यूजर्सी में दो हजार 300 के बदले 300 मिले। वहीं वर्जीनिया ने 300 वेंटिलेटर्स मांगे थे, लेकिनएक भी नहीं मिले।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने कहा- देश में वेंटिलेटर्स की संख्या जल्द जरूरत से ज्यादा होगी।-फाइल फोटो


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2UyOhMu

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस