रिपोर्ट में दावा- चीन में कोरोनावायरस के 158 मरीजों पर रेमडेसिवयर ड्रग का ट्रायल फेल हुआ

भारत-अमेरिका समेत कई देश कोरोनावायरस के संक्रमण से जूझ रहे हैं। महामारी का वैक्सीन तैयार करने के लिए दुनियाभर में कई वैज्ञानिक दिन-रात जुटे हैं। चीन में भी रेमडेसिवयर ड्रग का मरीजों पर ट्रायल हुआ। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह ट्रायल फेल रहा है। ट्रायल से जुड़ी जानकारी विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की साइट पर प्रकाशित की गई थी। हालांकि, डब्ल्यूएचओ ने इसे हटा लिया था और कहा कि रिपोर्ट गलती से अपलोड हो गई थी।

सभी देशों को एंटी वायरल ड्रग रेमडेसिवयर ड्रग के ट्रायल को लेकर बड़ी उम्मीद थी। लेकिन चीन में रेमडेसिवयर ड्रग से मरीजों में कोई सुधार देखने को नहीं मिला। रिपोर्ट के मुताबिक, यह ट्रायल 237 मरीजों पर किया गया। इनमें से 158 को रेमडेसिवयर और बाकी 79 को प्लेसीबो दी गई। इसके एक महीने बाद रेमडेसिवयर लेने वाले 13.9% मरीजों और प्लेसीबो लेने वाले 12.8% मरीजों की मौत हो गई। साइड इफेक्ट के कारण ट्रायल को पहले ही रोक दिया गया। यह ड्रग एक अमेरिकी फर्म गिलिएड साइंस की है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Experimental Coronavirus Drug Remdesivir Fails In Human Trial: Report


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/351H4Ih

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान