चीन में फिर संक्रमण फैलने का खतरा, 1 करोड़ की आबादी वाले हार्बिन शहर में लॉकडाउन

चीन में कोरोनावायरस का खतरा एक बार फिर से मंडरा रहा है। यहां बाहर से आए लोगों के जरिए संक्रमण फैल रहा है। अब यहां के उत्तर-पूर्व हेइलोंगजियांग प्रांत के शहर हार्बिन में कोरोनावायरस के संक्रमण के मामले तेजी से उभरकर सामने आए हैं। एक करोड़ की आबादी वाले हार्बिन शहर में लॉकडाउन लगा दिया गया है।हार्बिन शहर हेइलोंगजियांग की राजधानी है।


बताया जा रहा है कि यहां का एक स्टूडेंट हाल ही में न्यूयॉर्क से लौटा है। उसकी चपेट में आकर यहां 70 से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं। यहां 4,000 लोगों की टेस्टिंग की गई है। संक्रमण के इतने ज्यादा मामले सामने आते ही सरकार ने पूरे शहर को सील कर दिया है।

रुस की सीमा से सटा हुआ है चीन का यह शहर
चीन का यह शहर रूस की सीमा से सटा हुआ है। अधिकारियों ने पूरे क्षेत्र में किसी भी प्रकार की गतिविधियों पर प्रतिबंध लगा दिया है। चीन के हेइलोंगजियांग में ही संक्रमण के नए मामले सामने आ रहे हैं। ज्यादातर संक्रमित ऐसे चीनी नागरिक हैं, जो दूसरे देशों से आए हैं। इससे पहले हेइलोंगजियांग प्रांत के सुइफेन्हे शहर में लॉकडाउन जैसे हालात हो गए थे।

वुहान में केवल दो मरीजगंभीर बीमार
चीन के हार्बिन में संक्रमण बढ़ने के मामले तब सामने आए जब सरकार ने यह बताया कि वुहान में केवल दो मरीज ही ऐसे हैं, जिनकी हालत ज्यादा खराब है। ऐसे में हार्बिन में फिर लॉकडाउन लगना चीन के लिए बड़ी चिंता का मामला है। वुहान में आठ अप्रैल को ही लाकडॉउन हटाया गया है।

सभी 70 संक्रमित एसिम्टोमैटिक
चीन में नए आने वाले मामलों में सबसे ज्यादा एसिम्टोमैटिक मामले हैं। ये ऐेसे मामले होते हैं, जिनमें संक्रमण के लक्षण नहीं दिखाई देते। हार्बिन में पाए गए सभी 70 संक्रमित एसिम्टोमैटिक ही थे।

28 दिनों के सेल्फ क्वारैंटाइन का नियम बनाया गया

इस संक्रमितोंं के संपर्क में आने वाले सभी लोगों को क्वारैंटाइन कर दिया गया है। क्वारैंटाइन किए गए सभी लोगों को तभी बाहर निकलने की अनुमति होगी, जब वे दो न्यूक्लिक टेस्ट और एक एंटीबॉडी टेस्ट पास कर लेंगे। हेइलोंगजियांग प्रांत में आने वाले सभी लोगों के लिए पहले से ही 28 दिनों के सेल्फ क्वारैंटाइन का नियम बनाया गया है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
चीन के वुहान में भले ही अब हालात सुधर रहे हों, लेकिन कई मरीज अब भी जिंदगी के लिए जूझ रहे हैं। वुहान के एक अस्पताल में भर्ती कोरोना मरीज की देखभाल करते हुए डॉक्टर।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3eDuTps

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस