पहली बार 24 घंटे में किसी कोरोना मरीज की मौत नहीं; एपिसेंटर रहे वुहान में भी कल लॉकडाउन खत्म होगा

जिस चीन से कोरोनावायरस की शुरुआत हुई, वहां पर संक्रमण लगभग खत्म हो गया। 24 घंटे में संक्रमण की वजह से कोई मौत नहीं हुई। यहां जनवरी से संक्रमण फैलना शुरू हुआ था। तब से यह पहला मौका है, जब एक दिन में किसी संक्रमित की मौत नहीं हुई। आठ अप्रैल को वुहान से भी लॉकडाउन हटा लिया जाएगा। चीन में सिर्फवुहान ही बचा है जहांलॉकडाउन जारी है। वुहान में पिछले 14 दिनमें संक्रमण के कुल दो मामले ही सामने आए। यहां 23 जनवरी से लॉकडाउन है।

दूसरे देशों से आने वाले संक्रमित

मंगलवार को चीन के नेशनल हेल्थ कमीशन ने कहा- सोमवार को कुल 32 नए मामले सामने आए। ये सभी वो लोग हैं जो दूसरे देशों से यहां आए। चीन में जनवरी से कोरोनावायरस का प्रकोप शुरू हुआ था। फरवरी में यह चरम पर था। मार्च की शुरुआत से कमी आने लगी। अप्रैल में यह करीब-करीब खत्म होता जा रहा है। हालांकि, दूसरे देशों से चीन पहुंचे लोगों की वजह से खतरा बढ़ भी सकता है। क्योंकि, हेल्थ मिनिस्ट्री कई दिनों से यह दावा कर रही है कि नए मामलों में 99 फीसदी बाहरी लोगों के देश लौटने से सामने आ रहे हैं।हालांकि, इनमेें भी चीन के नागरिक ही ज्यादा हैं।

एसिम्टोमैटिक मरीजों पर रख रहे नजर
कोरोनावायरस के संदर्भ में बात करें तो एसिम्टोमैटिक पेशेंट वो हैं जो कोरोना पॉजिटिव तो हैं, लेकिन उनमें इस बीमारी के लक्षण नजर नहीं आते। अब इन्हींपर नजरज्यादा रखी जा रही है। सोमवार को ऐसे 30 मामले सामने आए। कुल 1,033 ऐसे मामले सामने आ चुके हैं। यह दुनिया के कुलएसिम्टोमैटिक मामलों का एक तिहाई है।बाहर से आने वाले सभी नागरिकों का वायरस टेस्ट किया जा रहा है। चीन में अब तक संक्रमण के 81,740 मामले सामने आए। 3 हजार 331 लोगों की मौत हुई।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
वुहान शहर से ही कोरोनावायरस शुरू हुआ था। अब कल यानी बुधवार 8 अप्रैल को यहां से भी लॉकडाउन खत्म हो जाएगा।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3c04tMB

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान