दुनिया में ताइवान की बढ़ती साख से चीन परेशान, प्रतिबंधों की धमकी दे रहा; 2.40 करोड़ की आबादी वाला देश अमेरिका, इटली को मास्क दान कर रहा

जेवियर सी हर्नांडेज/क्रिस हॉर्टन.दुनियाभर के तमाम देशों में जब लॉकडाउन है। ऐसे वक्त में करीब 2.40 करोड़ की आबादी वाले ताइवान में बेसबॉल गेम सीजन जारी है। यह छोटा सा आइलैंड महामारी के बीच दूसरे देशों की मदद करने के लिए भी आगे आया है। अमेरिका, इटली जैसे देश ताइवान से ‘मेड इन ताइवान’ लिखे मास्क प्राप्त कर रहे हैं।

अमेरिका और यूरोप के अधिकारियों ने ताइवान द्वारा एक करोड़ से ज्यादा मास्क दान करने पर तारीफ की है। बिल गेट्स, बारबरा स्ट्रीसेंड जैसे बिजनेसमैन, सेलेब्स और राजनेताओं ने कोरोना से लड़ाई में ताइवान की काफी तारीफ कर रहे हैं।

वैश्विक महामारी के बीच दुनिया में ताइवान की साख बढ़ रही

ताइवान में कोरोनावायरस के अब तक 429 मामले आए हैं। 275 ठीक हो चुके हैं। जबकि 6 लोगों की जान जा चुकी है। वैश्विक महामारी के बीच दुनिया में ताइवान की साख बढ़ रही है। इससे चीन परेशान हो रहा है और ताइवान पर प्रतिबंधों की धमकी दे रहा है।


चीन नेआर्थिक सजा देने की धमकी दी

महामारी के बीच भी चीन ताइवान के खिलाफ कड़ा रुख अपना रहा है। वो लगातार ताइवान के तटीय इलाकों में अपने युद्धपोत भेज रहा है। इससे पहले चीन के कुछ समीक्षकों ने आर्थिक सजा देने की भी धमकी दी है। चीनी अधिकारियों ने आरोप लगाए हैं कि ताइवान वैश्विक संगठनों में अपनी भागीदारी के लिए राजनीतिक दांव-पेंच लगा रहा है।

चीन विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने बीजिंग में हुई कॉन्फ्रेंस में कहा कि यह हरकत कभी सफल नहीं होगी। ताइवान में भी कुछ इस बात को लेकर चिंतित हैं कि बीजिंग आइलैंड के साथ व्यापार पर कड़ी पाबंदियां लगाएगा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
ताइवान की ओर से भेजे गए ‘मेड इन ताइवान’ मेडिकल इक्विपमेंट।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3aFtbRa

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान