जिस वुहान से पूरी दुनिया में कोरोनावायरस फैला, वहां लॉकडाउन हटने के बाद शादी के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 300% बढ़े

चीन का शहर वुहान, जहां से कोरोनावायरस दुनियाभर में फैला। आज वहां जिंदगी पटरी पर लौट आई है।76 दिनबाद लॉकडाउन भी खत्म हो चुका है। फ्लाइट्स, ट्रेनें और बसें शुरू हो गई हैं। थियेटर, मॉल्स और सब्जी बाजार खुलने लगे हैं। यहां लॉकडाउन हटते ही लोगों में शादी की होड़ मच गई है। शादी के रजिस्ट्रेशन के लिए ऑनलाइन ऐप पर 300% ट्रैफिक बढ़ गया है।

चीन में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किए जाने वाले पेमेंट प्लेटफॉर्म अलीपे के मुताबिक, एक साथ इतने यूजर्स ने ऐप का इस्तेमाल किया कि उसने काम करना बंद कर दिया था। हालांकि वेबसाइट क्रैश नहीं हुई। इसे बार-बार रिफ्रेश करने की जरूरत पड़ रही है। आवेदनों की संख्या अभी और बढ़ सकती है। वेडिंग ड्रेसेस की बुकिंग भी बढ़ने लगी है।

कई शहरों में प्री-वेडिंग फोटो शूट भी शुरू
चीनी टेक कंपनी ऐबेकस की ओर से बताया गया कि फरवरी और मार्च में ऐप पर शादी के रजिस्ट्रेशन बंद कर दिए गए थे। लेकिन स्थिति सामान्य होने पर शादी की तैयारियां शुरू हो गई हैं। वुहान समेत कई शहरों में प्री-वेडिंग शूट चल रहे हैं। हालांकि जरूरी सावधानियों का ध्यान रखा जा रहा है। कपल्स अलग-अलग लोकेशन पर जा रहे हैं और मनमुताबिक फोटोशूट करा रहे हैं।


रजिस्ट्रेशन के लिए हेल्थ रिपोर्ट भी देनी होगी
चीन में मैरिज रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को पूरा करने के दौरान कपल्स को अपनी हेल्थ रिपोर्ट पेश करनी होगी। कोरोना की जांच रिपोर्ट निगेटिव होने पर भी रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पूरी मानी जाएगी। अलीपे ऐप के प्रवक्ता ने बताया कि लॉकडाउन के कारण तलाक के लिए होने वाले अपॉइंटमेंट के मामलों में बढ़ोतरी हुई है। इसके बाद अचानक मैरिज रजिस्ट्रेशन के मामले इस कदर बढ़ेंगे, उम्मीद नहीं थी।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
चीन में मैरिज रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को पूरा करने के दौरान कपल्स को अपनी हेल्थ रिपोर्ट पेश करनी होगी।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2xk8EnJ

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस