अमेरिका में कोरोना से 40 से ज्यादा भारवंशियों की मौत, 1500 ज्यादा संक्रमित हुए

दुनिया में अमेरिका कोरोना का एपिसेंटर बन चुका है। यहां 5 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं और 20 हजार से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं। इस बीच, यह भी खबर है कि इस महामारी की वजह से 40 से ज्यादा भारतीय और भारतवंशियों ने दम तोड़ दिया है। अमेरिका में न्यूयॉर्क व न्यूजर्सी में सबसे ज्यादा जानें गई हैं।

न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, मरने वाले भारतीयों में केरल से 17, गुजरात 10, पंजाब से चार, आंध्र प्रदेश से दो और एक ओडिशा से एक है। इनमें सभी की उम्र 60 साल से ज्यादा बताई जा रही है। एक मृतक की उम्र 21 है। कम्युनिटी नेताओं के अनुसार, इनमें से 12 से ज्यादा लोग न्यू जर्सी में रहते थे। इसी तरह 15 भारतीय मूल के लोग न्यूयॉर्क से हैं।

अमेरिका के अन्य इलाकों में भी हुई भारतीयों की मौत

  • पेन्सिलवेनिया और फ्लोरिडा से भी 4 भारतीयों और टेक्सास और कैलिफोर्निया में एक-एक भारतीय-अमेरिकी की मौत की पुष्टि हुई है। मृतकों में सुनोवा एनालिटिक्स इंक. के सीईओ हनुमंत राव मारेपल्ली भी शामिल हैं। इसके अलावा चंद्रकांत अमीन (75) और महेंद्र पटेल (60) की भी मौतें हुई हैं। वहीं, एक व्यक्ति की मौत न्यू जर्सी स्थित उसके घर में हुई।
  • महेंद्र पटेल के 50 से ज्यादा दोस्तों और रिश्तेदारों ने इस हफ्ते ऑनलाइन वीडियो के जरिए अंतिम संस्कार में शामिल हुए। क्योंकि स्थानीय प्रशासन ने 9 ज्यादा लोगों को अंतिम संस्कार के वक्त मौजूद रहने की अनुमति नहीं दी थी। न्यू जर्सी के के ओक ट्री रोड पर रियल एस्टेट का कारोबार करने वाले भावेश दवे का कहना है कि मैंने ऐसी स्थिति पहले कभी नहीं देखी।
  • इंडियन कम्युनिटी के अधिकारियों ने बताया कि न्यू जर्सी में 400 से ज्यादा भारतीय-अमेरिकी पॉजिटिव पाए गए हैं। वहीं, न्यूयॉर्क में यह संख्या एक हजार से ज्यादा है। इस शहर में कई भारतीय-अमेरिकी टैक्सी ड्राइवर का कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आया है। अभी इनकी संख्या के बारे में बता नहीं चला है।


Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
At Least 40 Indians, Indian-Americans Dead In US, Over 1,500 Test COVID-19 Positive


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2JZ2rk0

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस