हाइड्रोक्सीक्लाेराेक्वीन समेत 5 टन कार्गाे मेडिसिन भेजी, इजराइल के पीएम नेतन्याहू ने मोदी को कहा- शुक्रिया

भारत से 5 टन कार्गाे दवाई भेजे जाने पर इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने गुरुवार को अपने समकक्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काशुक्रिया अदा किया है। इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प औरब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो भी मोदी का आभार जता चुके हैं। मेडिसिन की खेप में कोरोनावायरस संकट से निपटने में सहायक एंटी मलेरिया मेडिसिन क्लोरोक्वीन और हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन भी हैं। इसे उपलब्ध कराने के लिए अमेरिका, ब्राजील से लेकर इजराइल तक ने भारत से मदद मांगी थी। इसके बाद मोदी ने वैश्विक महामारी को खत्म करने और मानवता के लिए इन दवाओं को उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया था।

गुरुवार शाम को नेतन्याहू ने ट्वीट कर लिखा, ‘‘क्लोरोक्वीन भेजने के लिए इजराइल के सभी नागरिकों की ओर से शुक्रिया मेरे प्यारे दोस्त नरेंद्र मोदी।’’ दवाइयों से भरा विमान मंगलवार को इजराइल पहुंचा था। इसके दो दिन बाद नेतन्याहू ने मोदी कोशुक्रिया कहा। इजराइल ने भारत से 3 अप्रैल को क्लोरोक्वीन और हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा उपलब्ध कराने को कहा था। इसके बाद भारत नेमंगलवार को दवाइयों की खेप इजराइल को मुहैया करा दी। इससे पहले 13 मार्च को भी इजराइल ने मास्क और दूसरी जरूरी चिकित्सीय सहायता की मांग की थी।

हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन को प्रमुख निर्यातक है भारत

भारत इस दवा का दुनिया में प्रमुख उत्पादक और निर्यातक है।25 मार्च को भारत ने हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन के निर्यात पर रोक लगाई थी, लेकिन महामारी से निपटने के लिए कई देशों के अनुरोध पर 6 अप्रैल को डायरेक्ट्रेट जनरल ऑफ फॉरेन ट्रेड (डीजीएफटी) ने हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन समेत 14 दवाईयों के निर्यात पर लगी रोक को हटाने की बात कही थी।

इजराइल में 10 हजार से ज्यादा मामले
इजराइल में फिलहाल 10 हजार से ज्यादा कोरोनावायरस के मामले सामने आ चुके हैं। करीब 86 लोगों की जान चुकी है। 121 के करीब मरीज गंभीर हालत में वेंटिलेटर पर हैं।

कहां से हुई इसकी शुरुआत

क्लोरोक्वीन दवा शुरुआत में मलेरिया के लिए आई थी, बाद में इसका उपयोग गठियावात और दर्द निवारक के तौर पर होने लगा। हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन उसी दवा का एडवांस वर्जन है। अब तक की जांच में यह साबित हुआ है कि यह दवा कोरोना के इलाज में कुछ हद तक कारगर है। बचाव के अलावा अभी इस बीमारी का काई और इलाज नहीं है, इसलिए यही दवा उपयोग में ली जा रही है। लेकिन, इसके साइड इफेक्ट भी हैं, ऐसे में बिना डॉक्टर की सलाह के इसका उपयोग नहीं करना चाहिए।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
भारत हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा का दुनिया में प्रमुख उत्पादक और निर्यातक है। इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू और नरेंद्र मोदी। (फाइल)


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2VfoLeo

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस