अमेरिका में अगस्त तक 60 हजार मौतों का अनुमान, अगले साल भी बना रहेगा संकट

डेविड मेकनील.अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प तो कारोबारी गतिविधियां जल्द शुरू करने के पक्ष में हैं लेकिन कोरोना वायरस के फैलाव में कोई गिरावट नहीं आई है। यह बड़े शहरों, उपनगरों से अब ग्रामीण क्षेत्रों की ओर बढ़ रहा है। कुछ विशेषज्ञों का कहना है, अगले साल तक स्थिति गंभीर रह सकती है। मौतों की संख्या का भी निश्चित अनुमान नहीं है। नया अनुमान 60 हजार मौतों का है। मार्च में 17 लाख मौतों की आशंका जताई जा चुकी है।


न्यूयॉर्क टाइम्स ने स्वास्थ्य और संक्रामक बीमारियों के 20 विशेषज्ञों से स्थिति के संबंध में चर्चा की है। कुछ लोगों की राय है कि स्थितियों को बेहतर बनाने के लिए सावधानी से कारोबार शुरू करना होगा, बड़े पैमाने पर टेस्टिंग, कारगर इलाज, स्वास्थ्य के लिए पर्याप्त संसाधन मुहैया कराने और प्रभावी वैक्सीन बनाने जैसे उपाय करने होंगे। फिर भी, अगले साल के अंधकारमय होने की भविष्यवाणी को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। कई राज्यों के ग्रामीण इलाकों से संक्रमण फैलने के समाचार हैं।

लोगों को महीनों घर के अंदर रहना होगा- विशेषज्ञ
राष्ट्रीय मेडिसिन अकादमी के पूर्व अध्यक्ष डॉ. हार्वे फिनबर्गकहते हैं, लोगों को महीनों घर के अंदर रहना होगा। वांडरबिल्ट यूनिवर्सिटी मेडिकल कॉलेज में मेडिसिन विशेषज्ञ डॉ. विलियम स्काफनर कहते हैं किमेरा आशावादी पक्ष कहता है कि वायरस का प्रकोप जून से अगस्त के बीच कम होगा। अधिकतर विशेषज्ञों का विश्वास है कि एक बार संकट खत्म होने के बाद अर्थव्यवस्था बहुत तेजी से दौड़ेगी। महामारी से सबसे अधिक प्रभावित इधर, न्यूयॉर्क में अस्पतालों में भर्ती होने वालों की संख्या घटी है।

विशेषज्ञों का मानना- दवा नहीं बनी तो मौत की संख्या बढ़ेगी

वाशिंगटन यूनिवर्सिटी हेल्थ मैट्रिक्स इवैल्यूएशन इंस्टीट्यूट ने अब 60 हजार लोगों के मरने का अनुमान लगाया है। यह अनुमान 4 अगस्त तक के लिए है। पहले उसने एक लाख से दो लाख 40 हजार लोगों के मरने की आशंका जताई थी। अगर वैक्सीन नहीं बन पाई तो मरने वालों की संख्या भी बढ़ती जाएगी। अमेरिका के बीमारी नियंत्रण और रोकथाम सेंटर (सीडीसी) ने मार्च में कई विशेषज्ञों से संपर्क किया था। इसके बाद अनुमान लगाया गया कि वायरस 48 से 65 प्रतिशत अमेरिकियों को संक्रमित करेगा। मृत्यु दर एक प्रतिशत से कम रखी जाए तो 17 लाख लोग मर सकते हैं।

चीन-इटली की तुलना में यूएस में बहुत कुछ खुला है
चीन और इटली से तुलना की जाए तो अमेरिका में अब भी बहुत कुछ खुला हुआ है। कुछ घरेलू विमान सेवाएं जारी हैं, लोग चाहे जहां वाहनों से जा सकते हैं, सड़कों, पार्कों में घूम सकते हैं। डॉ. स्काफनर कहते हैं किइस कारण देश में हर दिन 30 हजार नए मामले आ रहे हैं। वैक्सीन जल्द आने के प्रति भी विशेषज्ञ पूरी तरह आश्वस्त नहीं हैं। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के वैज्ञानिक सलाहकार और संक्रामक बीमारियों के विशेषज्ञ डॉ. एंथोनी फॉसी का कहना है, वैक्सीन बनने में कम से कम एक साल से 18 माह तक लग सकते हैं।


गंभीर स्थिति के बावजूद सभी गतिविधियां नहीं रुकी हैं

  • कई गतिविधियां चल रही हैं। घरेलू विमान सेवाएं जारी हैं। लोग वाहन चलाते हैं। सड़कों, पार्कों में घूमते हैं।
  • विशेषज्ञों ने 60 हजार से 17 लाख लोगों की मौतों के अनुमान लगाए हैं।
  • कुछ विशेषज्ञों को आशा कि जून से अगस्त के बीच प्रकोप धीमा पड़ जाएगा।
  • वैक्सीन के बहुत जल्द आने की संभावना नहीं। डेढ़ वर्ष तक लग सकते हैं।
  • सबसे अधिक प्रभावित न्यूयॉर्क शहर के अस्पतालों में भर्ती होने वालों की संख्या कम हुुई है।


Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प तो कारोबारी गतिविधियां जल्द शुरू करने के पक्ष में हैं लेकिन कोरोना वायरस के फैलाव में कोई गिरावट नहीं आई है


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3bmuiXp

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस