अमेरिकी राज्य के गवर्नर ने किया खुलासा: न्यूयॉर्क में कोरोनावायरस के सुपर कैरियर बने बस-मेट्रो, हजारों मौतों के बाद भी ये चल रहे

(मोहम्मद अली).न्यूयॉर्क ने संभवतः कोरोनावायरस के विनाशकारी प्रसार का कारण खोज लिया है। बसें, कैब और मेट्रो जैसी सर्विस ने इस बीमारी को फैलाने में सुपर कैरियर की भूमिका निभाई है। न्यूयॉर्क में वायरस क्यों इतनी तेजी से फैला और इसे रोकने में क्या चूक रही, इस पर यहां के गवर्नर एंड्रयू क्यूमो बताते हैं कि इस वायरस को लेकर सामने आई नई जानकारी चौंकाने वाली है।

इसके मुताबिक, कोरोनावायरस 3 घंटे तक हवा में रह सकता है। मेट्रो, ट्रेनों और बसों के डिब्बों की सतहों और सीटों पर 3 दिन तक जीवित रहने में सक्षम है। यह जानकारी न्यूयॉर्क के लोगों के लिए बड़े झटके की तरह है क्योंकि यहां मेट्रो, कैब और ट्रेन में लोग अभी तक सफर कर रहे हैं।

महामारी की दूसरी लहर भी उठेगी- क्यूमो

क्यूमो का अनुमान है कि फिलहाल यह चक्र रुकने वाला नहीं है। महामारी की दूसरी लहर भी उठेगी। शुक्रवार को 24 घंटे में 34,736 टेस्ट किए गए, यह संभवतः दुनिया में किसी एक राज्य में एक दिन में किए गए सर्वाधिक टेस्ट हैं। न्यूयॉर्क में 3 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। अब तक यहां 17 हजार से ज्यादा जानें जा चुकी हैं। अमेरिका में संक्रमित लोगों की संख्या करीब 9.31 लाख, मृतकों की तादाद 52,000 से ज्यादा है।

यहां पूर्ण लॉकडाउन नहीं रहा, वायरस के प्रभाव की सीमा नहीं

क्यूमों ने बताया कि भारत की तरह अमेरिका में कभी भी पूर्ण लॉकडाउन नहीं रहा। इसलिए वायरस के प्रभाव की कोई सीमा नहीं है। यहां बसें और मेट्रो सर्विस अभी तक चल रही हैं। मौजूदा आंकड़े बताते हैं कि वायरस के प्रसार में यह बड़े कारणों में से एक हो सकता है। वे कहते हैं कि रेग्युलर सैनेटाइजेशन के बिना ऐसे वायरस को खत्म नहीं किया जा सकता। यह वायरस उन लोगों से भी फैल सकता है, जिनमें इसके कोई लक्षण नहीं दिखते हैं। ऐसे में इसे रोकने में अधिकारियों का काम और मुश्किल भरा हो जाता है।

प्रशासन अब नई साफ-सफाई प्रक्रियापर काम कर रहाहै

न्यूयॉर्क प्रशासन अब नई साफ-सफाई प्रक्रिया और डिसइंफेक्टिंग प्रोटोकॉल पर काम कर रहाहै।ताजा जानकारी बताती है कि न्यूयॉर्क परिवहन विभाग, मेट्रोपॉलिटन ट्रांसपोर्टेशन अथॉरिटी (एमटीए) महामारी की चपेट में क्यों आया। इस विभाग के 84 कर्मचारियों की मौत हो चुकी है। 3,500 से ज्यादा लोग संक्रमित पाए गए हैं। इसके अतिरिक्त 3,368 कर्मचारियों को घर पर ही रहने को कहा गया है।एमटीए के प्रवक्ता ने कहा कि हमने साफ-सफाई के तरीके बदले हैं। हम हमारे स्टेशनों और मेट्रो के उच्च स्पर्श क्षेत्रों को दिन में दो बार कीटाणुरहित कर रहे हैं। हर 72 घंटे में सर्विस टीम को बदल रहे हैं।


उधर, अमेरिका के जॉर्जिया, ओक्लाहोमा, अलास्का राज्यों ने लॉकडाउन पर ढील देनी शुरू कर दी है। इसके बाद यहां कई दुकानें खुलीं। हालांकि, अब भी स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने राज्य सरकारों से कहा है कि वे लॉकडाउन में ढील देने की जल्दबाजी न करें।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
तस्वीर अमेरिका के जॉर्जिया प्रांत की है। यहां हेयर सैलून, ब्यूटी पॉर्लर खुल गए हैं।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2VAJSco

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान