स्वास्थ्य विभाग ने नागरिकों को मास्क पहनने की हिदायत दी, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प बोले- मैं तो नहीं पहनूंगा

अमेरिका में अब तक दो लाख 77 हजार कोरोना से संक्रमित मिले हैं जबकि 7 हजार 392 लोग जान गंवा चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग केसेंटर ऑफ डिजीज कंट्रोल (सीडीसी) ने लोगों को घर से निकलने से पहले मास्क पहनने की हिदायत दी है। हालांकि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि वे मास्क नहीं पहनेंगे। उन्होंने व्हाइट हाउस में कोरोना वायरस को लेकर सवालों का जवाब देते हुए कहा, ‘‘मास्क को लेकर सीडीसी ने सिर्फ सुझाव दिया है। यह स्वैच्छिक होगा। आप ऐसा कर भी सकते हैं और नहीं भी। मैं ऐसा नहीं करूंगा। यह अच्छा रहेगा।’’
ट्रम्प ने कहा, कि मैं राष्ट्रपतियों, प्रधानमंत्रियों, तानाशाहों, राजाओं और रानियों से मिलता हूं। ऐसे में मास्क पहनना, मुझे नहीं लगता कि यह ठीक होगा।मैं इसे पहनने के सुझाव को अपने लिए नहीं मानता।

मर्लिन के एक फायर स्टेशन पर प्राइमरी चुनाव के लिए हुई वोटिंग में लोग मास्क पहनकर वोट डालने पहुंचे।

मास्क को लेकर कई दिनों से अमेरिका में बहस जारी

अमरेकी लोगों के लिए मास्क पहनना जरूरी हो या नहीं इसको लेकर पिछले कई दिनों से बहस जारी है। सीडीसी के अधिकारी लगातार ट्रम्प से कह रहे हैं कि वे लोगों को इसे लगाने की सलाह दें। यहां तक कि जो लोग स्वस्थ नजर आ रहे हैं उन्हें भी सार्वजनिक स्थानों पर संक्रमण से सुरक्षा के उपाय अपनाने के लिए कहें। वे मास्क लगाएं या किसी ऐसे स्कार्फ का इस्तेमाल करें, जिससे उनके नाक और मुंह ढक जाएं। हालांकि अभी तक ट्रम्प ने अमेरिकियों से ऐसी कोई अपील नहीं की है। उन्होंने कहा है कि जो लोग सीडीसी का सुझाव मानना चाहते हैं वे कपड़ों से बने या सामान्य मास्क पहने। अस्पताल कर्मचारियों या इमरजेंसी काम में लगे मजदूरों की तरह मेडिकल या सर्जिकल ग्रेड के मास्क नहीं पहने।

न्यूयॉर्क की सड़कों पर लोग मास्क पहने नजर आ रहे हैं। यहां अभी तक घराें से बाहर निकलने पर पाबंदी नहीं है।

ट्रम्प ने अभी तक लोगों से नहीं की घरों में रहने की अपील

देश मेंसंक्रमितों की संख्या 2 लाख के पार होने के बाद भी अब तक लोगों को घरों में रहने के लिए नहीं कहा गया है। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एलर्जी एंड इनफेक्शियस डिजिजेज की डायरेक्टर डॉ एस एंथनी एस. फौसी ने ट्रम्प से देश भर में स्टे एट होम (घर पर रहने का) आर्डर जारी करने को कहा था। लेकिन, ट्रम्प ने उनका सुझाव भी नहीं माना। ट्रम्प ने कहा था कि वे इसका फैसला राज्यों के गवर्नर पर छोड़ते हैं। अगर गवर्नर चाहें तो अपने राज्यों में ऐसा आदेश लागू कर सकते हैं। ट्रम्प ने लोगों को केयर एक्ट के तहत सब्सिडाइज्ड बीमा लेने की इजाजत देने के बदले अस्पतालों को कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए पैसे देने की बात कही है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
ट्रम्प इन दिनों हर दिन व्हाइट हाउस में कोरोना पर सवालों के जवाब दे रहे हैं। शुक्रवार को उन्होंने संक्रमण रोकने के लिए सीडीसी के मास्क पहनने के सुझाव को स्वैच्छिक बताया। देश में संक्रमितों की संख्या 2 लाख से पार हो चुकी है।- फाइल फोटो


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3aFKjHy

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान