गैजेट्स कम रखें, कई एप्स की जगह मल्टीपर्पज एप यूज करें

(ब्रायन एक्स. चेन)वर्क फ्रॉम होम कई लोगों को लक्जरी जैसा लग सकता है। अपनी मर्जी के समय काम करने मौका, समय की बचत और परिवार के साथ रहने जैसी सुविधाएं इसे लक्जरी बनाती भी हैं। लेकिन फिर वास्तविकताएं सामने आती हैं। आपका वाई-फाई स्लो हो जाता है, घर से काम करने के लिए जो नया सॉफ्टवेयर इस्तेमाल कर रहे हैं वह परेशान करने लगता है, बिना आईटी डिपार्टमेंट के काम करने पर कई तकनीकी समस्याएं खुद ही सुलाझानी पड़ती हैं। इस सबका नतीजा होता है कम प्रोडक्टिविटी। वर्क फ्रॉम होम को आसान, रोचक और सुविधाजनक बनाने के कुछ तरीके यहां दिए जा रहे हैं-

सबसे पहले बात इंटरनेट की
सबसे ज्यादा शिकायत होती है धीमे इंटरनेट की। ऑफिस का इंटरनेट घर की तुलना में तेज होता है। तो सबसे पहले अपना इंफ्रास्ट्रक्चर सुधारें।

  • अगर एक कमरे में नेट अच्छा चलता है और दूसरे में धीमा तो सबसे पहले ‘मेश वाई-फाई सिस्टम’ खरीदिए। इससे आप कई वायरलेस एक्सेस पॉइंट बना सकते हैं, जिससे पूरे घर में स्पीड मिले।
  • यह सिस्टम लगाने के बाद भी कम स्पीड मिले तो अपने इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर से संपर्क करें। इसके अलावा अपने स्मार्टफोन्स को हॉटस्पॉट के रूप में इस्तेमाल करने का विकल्प तो है ही।

कम से कम हो आपका टेक सेटअप
घर से काम करने का एक थंब रूल यह भी है कि कम से कम गैजेट्स रखें। आप जितने ज्यादा गैजेट रखेंगे, उन्हें सुधारने में उतना व्यस्त रहेंगे।

  • ज्यादातर को लैपटॉप से घर पर काम करने को कहा गया होगा। अगर यह स्क्रीन छोटी लगती है तो अतिरिक्त मॉनीटर खरीद सकते हैं।
  • खराब वीडियो क्वालिटी से परेशान हैं तो वेबकैम लें। अच्छी रोशनी के लिए थेरेपी लैंप ले सकते हैं। नॉइस-रिड्यूसिंग हेडफोन भी इस्तेमाल करें।
  • कलाइयों, गर्दन और पीठ में दर्द भी हो सकता है। कलाइयों में दर्द से बचने के लिए एर्गोनॉमिक कीबोर्ड लें। बैठने के लिए ऑफिस चेयर लें।

सही ऐप का चुनाव

स्लैक जैसे एप्स में ग्रुप चैट, प्राइवेट मैसेजिंग और फाइल अपलोड करने जैसे कई ऑप्शन होते हैं। इसी तरह गूगल के एप सूट में भी कई टूल्स मिल जाते हैं। कुलमिलाकर अलग-अलग टास्क के लिए कई एप्स या टूल्स इस्तेमाल करने से बचें और मल्टीपर्पज एप्स/सॉफ्टवेयर चुनें।
ब्रेक के दौरान रिफ्रेश हों

कई लोगों को लगता है कि घर पर काम करने पर टीवी और वीडियो गेम वगैरह ध्यान भटकाते हैं। इनसे बचने का एक ही तरीका है, कि इनसे न बचें। घर में आपको आजादी है कि लंच ब्रेक में आप नेटफ्लिक्स देखें या कुछ और मन का काम करें। इसे ब्रेक समझें।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Keep gadgets low, use multipurpose app instead of multiple apps


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3cpvrNK

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस