किम जोंग उन को लेकर थम नहीं रहे कयास; इंटरनेट पर उनके बारे में सर्चिंग बढ़ी, दुनियाभर में चर्चा तेज

उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन (36) को लेकर 13 दिन पहले शुरू हुई कयासबाजियां थमने का नाम नहीं ले रही। किम 15 अप्रैल को अपने दादा किम इल सुंग की याद में होने वाले सालाना कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए थे। ऐसा पहली बार हुआ था। ऐसे में उनके बार में कई तरह की अटकलें लगाईं जाने लगी। इंटरनेट पर उनके बारे में सर्च बढ़ गया। दुनिया भर में किम की चर्चा तेज हो गई। अब यह एक रहस्य बन गया है कि आखिर हमेशा सुर्खियों में रहने वाले किम कहां हैं? इस बीच कई तरह की अपुष्ट जानकारियां भी सामने आ रही हैं।
15 अप्रैल से ही किम से जुड़ी कई सेटेलाइट तस्वीरें और रिपोर्टस सामने आ चुकी हैं। इनमें उनकी मौत होने से लेकर उनकी कार्डियोवेस्कुलर सर्जरी होने तक का दावा किया जा चुका है। वहीं, अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने सोमवार को कहा कि उन्हें किम की सेहत के बारे में सब कुछ पता है,लेकिन फिलहाल वे इस पर कुछ नहीं कहेंगे। आइए जानते हैं बीते दिनों किम जोंग के बारे में सामने आई पांच थ्योरिज।
सर्जरी के बाद ठीक हो रहे किम
बीते 13 दिन में किम के बारे में पहली जानकारी उत्तर कोरिया के मामलों पर नजर रखने वाले दक्षिण कोरिया के अखबार डेली एनके ने 20 अप्रैल को दी। इसके मुताबिक, 12 अप्रैल को किम की कार्डियोवेस्कुलर सर्जरी हुई थी। रिपोर्ट के मुताबिक, किम काफी सिगरेट पीते हैं। उन्हें मोटापे की समस्या है और वे ज्यादा काम करते हैं। उनका हायंगसन काउंटी स्थित विला में इलाज हुआ। इसके बाद उनकी स्थिति में सुधार की खबरें आईं। उनके इलाज में लगी मेडिकल टीम के ज्यादातर सदस्य 19 अप्रैल को राजधानी प्योंगयांग लौट आए। कुछ सदस्य उनकी देखभाल करने के लिए वहीं रुके रहे।
किम जोंग की जिंदगी खतरे में
डेली एनके की रिपोर्ट के कुछ घंटे बाद ही सीएनएन ने किम के स्वास्थ्य को लेकर जानकारी दी। इसमें बताया गया कि सर्जरी के बाद उनकी जिंदगी खतरे में है। रिपोर्ट में बताया गया कि अमेरिकी खुफिया एजेंसी किम की सेहत पर नजर रख रहे हैं। ब्लूमबर्ग न्यूज ने खबर दी कि अमेरिकी अधिकारियों को किम के गंभीर स्थिति के बारे में बताया गया है। हालांकि उनके स्वास्थ्य के ताजा हालात के बारे में कुछ भी नहीं बताया गया। उधर, चीन ने भी किम के स्वास्थ्य को लेकर इंटरनेशनल मीडिया में कई तरह की अटकलों के बीच डॉक्टरों की एक टीम उत्तर कोरिया भेजने की बात कही।
सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे
किम के बारे में ऐसा भी कहा जा रहा है कि वे कोरोना को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं। उत्तर कोरिया की ओर से अभी तक देश में संक्रमण की जानकारी नहीं दी गई है। हालांकि, चीन की मेडिकल टीम और दक्षिण कोरिया का दावा है कि यहां संक्रमण पहुंच गया है। इस बीच दक्षिण कोरिया के सियोल आधारित अखबार जूंगांग डेली ने दावा किया कि किम का एक बॉडी गार्ड कोरोना संक्रमित हो गया है। इसके बाद वे सेल्फ क्वारैंटाइन हो गए हैं। अखबार ने चीन के एक अज्ञात व्यक्ति के हवाले से यह दावा किया है। हैंकूक इल्बो अखबार के मुताबिक 11 अप्रैल को वहां सोशल डिस्टेंसिंग का आदेश भी जारी किया गया था। इसमें तीन लोगों के एक साथ कहीं जुटने पर पाबंदी लगाई गई थी।
सेना के मॉक ड्रिल में घायल हुए किम
किम के सेना के मॉक ड्रिल में घायल होने की बात भी सामने आई है। किम की तलाश शुरू होने के बाद से ही वोन्सान रिजॉर्ट चर्चा में है। वोन्सान में किम परिवार का एक परिसर है जहां पर मिसाइलें टेस्ट की जाती है। इस बीच एक सेटेलाइट तस्वीर भी सामने आई है, जिसमेंकिम की ट्रेन वोन्सान के रेलवे स्टेशन में खड़ी दिख रही है। 38 नार्थ वेबसाइट की ओर से जारी यह तस्वीर पिछले हफ्ते की बताई जा रही है। अमेरिका में रह रहे उत्तर कोरिया के एक सैनिक ने डूंगा डेली को बताया कि 14 अप्रैल को वोन्सान में सेना की मॉक ड्रिल हुई थी। किम इसमें घायल हो गए। यही वजह रही कि एक दिन बाद वे अपने दादा के कार्यक्रम में नहीं पहुंच सके।
यह महज किम का ध्यान आकर्षित करने का पैंतरा
दक्षिण कोरियाई के सांसद यून सांग-ह्यून ने कहा है कि हो सकता है कि किम खुद लापता होकर अपने शासन की ओर ध्यान बंटाने की कोशिश कर रहे हों। ऐसे में अगले दो हफ्ते के अंदर वे सामने आ सकते हैं, क्योंकि देश में उनकी सत्ता पर पकड़ ढीली होने और उनके उत्तराधिकारी की चर्चा तक शुरू हो गई है। यून ने डोंगा डेली से कहा है कि अगर किम कुछ हफ्ते में सामने नहीं आए तो यह एक बड़ा मुद्दा हो सकता है। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि हो सकता कभी भी किम के इस तरह गायब होने की वजह सामने ही नहीं आए। इससे पहले भी 2014 में वे 6 हफ्तेतक नजर नहीं आए थे। इसकी वजहआज तक सामने नहीं आई।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग 13 अप्रैल से कहां हैं, इसके बारे में कोई जानकारी नहीं मिल रही। इंटरनेट पर उनके बारे में कई अपुष्ट बातें सामने आ रही हैं।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2y5idav

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस