प्रिंस हैरी और उनकी पत्नी मेगन ने ब्रिटेन के चार अखबारों को ब्लैकलिस्ट किया, कहा- यह कदम मीडिया पर सेंसरशिप लगाने के लिए नहीं उठाया

प्रिंस हैरी और उनकी पत्नी मेगन ने रविवार को चार बड़े अखबारों को ब्लैकलिस्ट कर दिया है। उन्होंने इन अखबारों पर गलत और आक्रामक खबरें छापने का आरोप लगाया है । उन्होंने एक पत्र जारी कर इसकी जानकारी दी है। ये चार अखबारद सन, डेली मेल, मिरर और एक्सप्रेस हैं।माना जा रहा है कि हैरी और उनकी पत्नी मेगन मीडिया में छपी गलत खबरों को लेकर आहत हैं।

अखबारों को लिखा पत्र

दंपतीने अपने लिए नई प्रेस नीति अपनाई है। इसमें इन चार अखबारों को बाहर कर दिया गया है। ब्रिटिश रायल फैमिली को छोड़कर हाल ही में अलग हुए दंपती नेइन अखबारों को एक लेटर भी लिखा है।फाइनेंशियल टाइम्स के रिपोर्टर मार्क डि स्टेफनो ने ट्विटर पर यह लेटर पोस्ट किया है। इसमें लिखा है, ‘‘यह कदम आलोचनाओं से बचने के लिए नहीं है। यह मीडिया पर सेंसरशिप लगाने के बारे में भी नहीं है। हमारीनई नीति सभी मीडिया पर लागू नहीं होती है और हम दुनिया भर के पत्रकारों के साथ काम करना जारी रखेंगे।"

जनवरी में रायल फैमिली से अलग होने की घोषणा की थी
हैरी और मेगन ने जनवरी में रायल ड्यूटी से अलग होने और आर्थिक रूप से स्वतंत्र होने की घोषणा की थी। उनके अलग होने की प्रक्रिया को ब्रेक्जिट की तर्ज पर मेग्जिट कहा गया था। इस दौरान कई रिपोर्ट सामने आईं थीं कि मेगन शाही जीवन से नाखुश थीं। इसके साथ मीडिया में और भी तमाम तरह की खबरें आईं थीं। जिस पर दंपति पहले भी नाराजगी जता चुके हैं। वर्तमान में हैरी और मेगन कैलिफोर्निया में बहुत सामान्य जीवन बिता रहे हैं। कैलिफोर्निया में अभी उनके ठिकाने की सही जानकारी नहीं है। माना जा रहा है कि वे तटीय शहर मालिबु में रह रहे हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
प्रिंस हैरी और मेगन मर्केल ने चारों अखबारों के संपादकों को पत्र लिखकर इसकी जानकारी दी है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2KhwH9B

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान