13 साल में पहली बार तुर्की में इजरायल का विमान उतरा; दोनों देशों में तनाव के चलते 2007 से आवाजाही बंद थी

तुर्की में 13 साल में पहली बार रविवार को इजराइली विमान उतरा। देश की एयरलाइन एल अल ने ये जाकारी दी। न्यूज एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, एल अल इजराइल की एक मात्र एयरलाइन है, जिसने 2007 में इस्तानबुल का रूट कैंसिल कर दिया था। दोनों देशों के बीच तनावपूर्ण संबंधों और उच्च सुरक्षा लागत के चलते ऐसा किया गया था।

उसके बाद से अब तक आपातकालीन और निजी विमानों को छोड़कर कोई भी इजराइली विमान लैंड नहीं किया था। ड्रीमलाइनर विमान रविवार को सुबह 7.30 बजे इस्तानबुल में उतरा। इस पर वायरस से प्रभावित अमेरिका की सहायता के लिए लगभग 24 टन मानवीय सहायता और उपकरण लादे गए। उड़ानों की सीरिज में यह पहला विमान है जो इस्तांबुल से न्यूयॉर्क तक मेडिकल इक्विपेंट ले जाएगा। यात्रा प्रतिबंध के चलते ड्रीमलाइनर एयरक्राफ्ट का इस्तेमाल किया जा रहा है।

नियमित रूप से उड़ानों के संचालन के लिए मंजूरी मिलने का इंतजार

मानवीय उद्देश्यों की पूर्ती के लिए एल अल को अब तक दो विमानों का संचालन करने के लिए तुर्की के अधिकारियों से मंजूरी मिली है। हालांकि, नियमित रूप से कार्गो फ्लाइट्स का संचालन करने के लिए मंजूरी मिलने का इंतजार है। जेरूशलम पोस्ट के मुताबिक, विमान न्यूयॉर्क जाने से पहले इस्तानबुल से तेल अवीव लौट आएगा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
एल अल का विमान रविवार को इस्तानबुल शहर पहुंचा।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3gka6bl

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

अमेरिका में चुनाव के दिन बाइडेन समर्थकों ने 75% और ट्रम्प सपोर्टर्स ने 33% ज्यादा शराब खरीदी

124 साल पुरानी परंपरा तोड़ेंगे ट्रम्प; मीडिया को आशंका- राष्ट्रपति कन्सेशन स्पीच में बाइडेन को बधाई नहीं देंगे