चार एशियाई देशों में छूट देते ही कोरोना के मरीज बढ़ने लगे, अब फिर से सख्ती; दक्षिण कोरिया में पिछले 24 घंटे में 79 नए केस

कोरोना को लेकर एशियाई देशों में स्थिति बिगड़ती जा रही है। जिन देशों ने शुरुआत में कोरोना को संभाल लिया था, वहां पर छूट के बाद मरीज बढ़ने लगे हैं। इनमें दक्षिण कोरिया, फिलीपींस, श्रीलंका और इंडोनेशिया प्रमुख हैं। दक्षिण कोरिया तो शुरुआत से ही कोरोना को काबू में रखकर चल रहा था।

लगभग 5 करोड़ की आबादी वाला ये देश हर छोटी कोशिश को भी तवज्जो दे रहा था, स्कूल बंद कर दिए गए थे, लोगों को घर से काम करने को कह दिया गया। मार्च के अंत में तो रोज 20 हजार लोगों की जांच की जा रही थी। तब यह दुनिया के किसी भी देश से ज्यादा थी।

दोबारा स्कूल खुले और छूट मिली तो बढ़ने लगा संक्रमण

लेकिन 20 मई से दोबारा स्कूल खुले और छूट मिली, तो संक्रमण बढ़ने लगा। गुरुवार को 79 नए मरीज मिले। इसके बाद स्कूल-कॉलेज दोबारा बंद करने के आदेश दे दिए गए हैं। शिक्षा मंत्री जोंग यून-कियोंग ने कहा कि फिर से सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों की जरूरत पड़ सकती है, क्योंकि लोगों की बढ़ती गतिविधियों की वजह से संक्रमण के संपर्कों का पता लगाना मुश्किल है। नए मामलों में से ज्यादातर ई-कॉमर्स कंपनी से जुड़े हैं।

फिलीपींस: वुहान से भी लंबा लॉकडाउन, पर छूट मिलते ही सारी कोशिशें बेकार हो गईं

यहां पिछले 24 घंटे में 1046 केस सामने आए हैं। जबकि इससे पहले एक हफ्ते में रोज औसत 300 केस सामने आ रहे थे। जनवरी में पहला मामला आने के बाद यह सबसे बड़ा आंकड़ा है। जबकि देश में इतनी सख्ती थी कि राष्ट्रपति दुतेर्ते ने कह दिया था कि लॉकडाउन तोड़ने पर गोली मार दें। यहां 16 मार्च से सख्ती शुरू हुई थी। लॉकडाउन खत्म होने तक यह वुहान से लंबा हो जाएगा। 11 मई को मनीला एयरपोर्ट और 16 मई को मेट्रो और मॉल भी खोल दिए गए। इसलिए केस बढ़ने लग गए। सोमवार से सख्ती के साथ पब्लिक ट्रांसपोर्ट शुरू करने की योजना है।

  • संक्रमित- 16634,मौतें- 942

श्रीलंका: कुवैत से लौटे 250 संक्रमित, रविवार से फिर देशभर में सख्ती होगी

द्वीपीय देश श्रीलंका में बड़े पैमाने पर हुई टेस्टिंग, अच्छी स्वास्थ्य सुविधाओं और पहले से मौजूद निगरानी तंत्र के कारण सिर्फ 10 मौतें हुईं। स्थिति अच्छी रहने पर 52 दिनों के लॉकडाउन के बाद 11 मई को सारे बाजार खोल दिए गए। पिछले एक हफ्ते में सिर्फ दो ही दिन संक्रमितों की संख्या तीन अंकों में पहुंची। पर कुवैत से हाल में लौटे 250 लोगों के पॉजिटिव पाए जाने के बाद सरकार हरकत में आ गई है। रविवार से देश में लॉकडाउन के सख्त नियम फिर से लागू करने का फैसला लिया गया है।

  • संक्रमित-1548,मौतें- 10

इंडोनेशिया: मई में दोगुने हो गए मामले, सुदूर द्वीपों तक पहुंच गया संक्रमण

दुनिया की चौथी सबसे ज्यादा आबादी वाले देश में मार्च के आखिरी दिन इमरजेंसी लागू की गई थी, पर सख्त लॉकडाउन कभी भी नहीं रहा। मई की शुरुआत तक इंडोनेशिया ने काबू रखा था, पर महीना खत्म होते-होते सुदूर द्वीप मालुकु तक कोरोना पहुंच गया है। यहां से लोगों की आवाजाही जावा और बाली में भी है, इसलिए खतरा वहां भी बढ़ गया है। मई के पहले हफ्ते में देश में 12 हजार संक्रमित थे, जो बढ़कर 25,316 हो गए हैं। इसके बाद सुरबाया जैसे प्रांतो में 10 हजार से ज्यादा लोगों की रैंडम सैंपलिंग शुरू कर दी है।

  • संक्रमित-25216,मौतें- 1520


Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
फिलीपींस की राजधानी मनीला में मेट्रो सेवाएं बहाल कर दी गई हैं, पर मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग रखना अनिवार्य है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2zH4YNW

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान