25 साल पहले पंचेन लामा के तौर पर पहचाना गए शख्स को रिहा किया जाए, वहा कहां है यह बताएं

अमेरिका ने चीन से 25 साल पहले पंचेन लामा के तौर पर पहचाने गए व्यक्ति को रिहा करने की मांग की है। अमेरिकी विदेश विभाग के अंतरराष्ट्रीय धार्मिक आजादी के राजदूत सैम ब्राउनबैक ने इसकी जानकारी दी। उन्होंने गुरुवार को कहा कि हमने चीनी अधिकारियों से यह बताने की मांग की है कि पंचेन लामा कहां है। यह जरूरी है क्योंकि चीन की कॉम्युनिस्ट पार्टी तिब्बतियों के धार्मिक उत्तराधिकारी को नियुक्त करने का हक छीन रही हैं।

ऐसा माना जाता है कि पंचेन लामा को चीन ने ही अगवा किया था। अमेरिका ने चीन को आगाह किया है कि वह इस मामले को दलाई लामा के उत्तराधिकार से जोड़कर नहीं देखे। उसे दुनिया का सबसे कम उम्र का राजनीतिक बंदी बताया गया था।

14 मई 1995 को हुई थी पंचेन लामा की पहचान

तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा ने 14 मई 1995 को 6 साल के गेधुन चोयेक्यी नायिमा की पंचेन लामा के तौर पर पहचान की थी। उसे दलाई लामा का पुनर्जन्म बताया था।पंचेन लामा को तिब्बती बौद्ध के सबसे बड़े स्कूल में दूसरा सबसे बड़ा ओहदा माना जाता है। गेधुन चोयक्यी को पंचेन लामा घोषित करने के तीन दिन बाद ही में हिरासत में ले लिया गया था। उसके बाद से अब तक उसका कोई पता नहीं चल सका है।

चीन नहीं चाहता दलाई लामा का उत्तराधिकारी घोषित हो

चीन सरकार ने अपनी ओर से दलाई लामा का एक उत्तराधिकारी नियुक्त किया है। वह कई बार सार्वजनिक कार्यक्रमों में भी नजर आ चुका है। हालांकि,उसे तिब्बती लोग नहीं मानते। चीन नहीं चाहता कि दलाई लामा के अगले उत्तराधिकारी की घोषणा हो। ऐसा करने से दुनिया भर में तिब्बत की आजादी की मुहिम कमजोर होगी। तिब्बती बौद्ध के 14 वें धर्मगुरु दूसरे पंचेन लामा की घोषणा करना चाहते हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
अमेरिका ने चीन से तिब्बती धर्म गुरु दलाई लामा के उत्तराधिकारी पंचेन लामा को रिहा करने की मांग की है। पिछले 25 साल से पंचेन लामा का कोई पता नहीं है। तस्वीर दलाई लामा की है जो तिब्बत की आजादी के लिए पिछले 25 साल से मुहिम चला रहे हैं।(फाइल फोटो)


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2LvcNsu

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस