कोरोनावायरस के बीच चीन ने 27 दिन में नाप डाला माउंट एवरेस्ट, ऊंचाई 4 मीटर कम निकली

चीन ने दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट को फिर से नाप लिया है। 27 दिन तक चले सर्वेक्षण का मकसद दुनिया को माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई की सही जानकारी देना था। चीनी वैज्ञानिकों के मुताबिक, माउंट एवरेस्ट की जो ऊंचाई हमें बताई गई है, यह उससे चार मीटर कम है।

इसके लिए चीन का 8 सदस्यीय टीम तिब्बत के रास्ते बुधवार को एवरेस्ट की चोटी पर पहुंची। चीन के अनुसार, माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई 8844.43 मीटर है। वहीं, नेपाल ने जो ऊंचाई नापी थी, वह 8848.13 मीटर थी। वैज्ञानिकों ने एक मई से माउंट एवरेस्ट को नापने के लिए सर्वे शुरू किया था।

नेपाल ने एवरेस्ट की ऊंचाई सही नहीं नापी थी
चीन का मानना था कि नेपाल माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई सही से नहीं नापी है। चीन के सर्वेयर अब तक माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई नापने के लिए 6 चक्र पूरे कर चुके हैं। 1975 और 2005 में दो बार चोटी की ऊंचाई क्रमश: 8848.13 मीटर और 8844.43 मीटर बताई गई थी।

टीम पर्वत की चोटी पर 150 मिनट तक रही
माउंट एवरेस्ट पर पहुंची टीम पर्वत की चोटी पर 150 मिनट तक रही। टीम ने चीनी लोगों का पर्वत की चोटी पर सबसे ज्यादा समय तक रुकने का रिकॉर्ड तोड़ दिया। इस दौरान टीम के सदस्यों ने 20 वर्ग मीटर चौड़ी चोटी पर सर्वे का मार्क भी लगाया।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
चीन के सर्वेयर अब तक माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई नापने के लिए 6 चक्र पूरे कर चुके हैं।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/36BbBxr

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान