टीएस संधू ने कहा- संकट ने अमेरिका को दिखाया कि दुनिया में भारत से मजबूत साझेदार कोई नहीं, दोनों देश 3 वैक्सीन पर साथ काम कर रहे

अमेरिका में भारतीय राजदूत टीएस संधू ने रविवार को कहा कि कोरोनावायरस संकट ने अमेरिका को दिखाया कि ऐसे समय में दुनिया में भारत से बड़ा साझेदार कोई नहीं है। उन्होंने कहा कि अभी दोनों देश कम से कम तीन वैक्सीन पर साथ काम कर रहे हैं।

संधू ने कहा कि इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) और अमेरिका की सीडीसी और एनआईएच कई सालों से मिलकर काम कर रहे हैं। 2-3 साल पहले दोनों देशों ने रोटावायरस नाम के अन्य वायरस का वैक्सीन भी विकसित किया था। इससे न केवल भारत और अमेरिका, बल्कि कई अन्य देशों को मदद मिली।

भारत ने अमरिका को हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन भेजी थी

भारतीय राजनयिक ने कहा कि भारत और अमेरिका सप्लाई चैन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। भारत ने पिछले महीने ही राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के आग्रह के बाद मलेरिया की दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन की खेप भेजी थी।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
अमेरिका में भारतीय राजदूत टीएस संधू ने कहा- भारत और अमेरिका सप्लाई चैन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। (फाइल फोटो)


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2WJqcSS

Comments

Popular posts from this blog

चीन ने कहा- हमारा समुद्री अधिकार नियम के मुताबिक, जवाब में ऑस्ट्रेलिया बोला- उम्मीद है आप 2016 का फैसला मानेंगे

अफगानिस्तान सीमा को खोलने की मांग कर रहे थे प्रदर्शनकारी, पुलिस ने फायरिंग की; 3 की मौत, 30 घायल