बलूचिस्तान में एक लैंडमाइन विस्फोट में पाकिस्तानी आर्मी के मेजर समेत 6 जवान मारे गए, बलूच लिबरेशन आर्मी ने ली हमले की जिम्मेदारी

पाकिस्तान में बलूचिस्तान प्रांत के दक्षिण में शुक्रवार को एक लैंडमाइन विस्फोट में पाकिस्तानी सेना के मेजर समेत छह जवान मारे गए। हमलापाकिस्तान-ईरान सीमा से 14 किलोमीटर अंदर हुआ। बताया कि विस्फोट एक रिमोट कंट्रोल डिवाइस के जरिए किया गया था।
पाकिस्तानी मिलिट्री के प्रवक्ता ने बताया कि फ्रंटियर कार्प्स साउथ बलूचिस्तान के जवान केछ जिले के बुलेदा से लौट रहे थे। इसी दौरान उन पर हमला किया गया। सेना ने अपने बयान में कहा कि जवान मेक्रान के पहाड़ी इलाके में आतंकवादियों की ओर से इस्तेमाल किए जाने वाले रास्तों की जांच करने गए थे। मरने वाले मेजर की पहचान नदीम अब्बास भट्‌टी के रूप में हुई है। वह पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के हफिजाबाद के रहने वाले थे।

बलूच लिबरेशन आर्मी ने ली जिम्मदारी
स्थानीय मीडिया द बलूचिस्तान पोस्ट ने कहा है कि बलूचिस्तान की स्वतंत्रता के लिए लड़ रही ‘बलूच लिबरेशन आर्मी (बीएलए)’ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। वहीं, एक अन्य वेबसाइट में बताया गया कि ‘बलूच राजी अजोई संगर’ समूह ने भी हमले की जिम्मेदारी ली है।
वहीं, बीएलए ने हमले में मारे गए मेजर पर केच क्षेत्र में आपराधिक गैंग बनाने का आरोप लगाया है। कहा कि पाक सेना यहां ऐसे दस्ते का गठन कर रही है जो बलूच लोगों को मार रहे हैं। मेजर पर ड्रग डीलरों की मदद करने का भी आरोप लगाया गया है। बीएलए के प्रवक्ता को कोट करते हुए बलूचिस्तान पोस्ट ने लिखा, ‘‘पाकिस्तानी सेना ने पिछले कई दिनों से तिगरान और तुर्बत के इलाकों में अभियान चलाकर बलूच नागरिकों को निशाना बनाया है। इसके साथ ही महिलाओं और बच्चों का उत्पीड़न भी किया गया है।’’



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
 पाकिस्तान-ईरान सीमा से 14 किलोमीटर अंदर यह आतंकी हमला हुआ है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3duaT7h

Comments

Popular posts from this blog

चीन ने कहा- हमारा समुद्री अधिकार नियम के मुताबिक, जवाब में ऑस्ट्रेलिया बोला- उम्मीद है आप 2016 का फैसला मानेंगे

अफगानिस्तान सीमा को खोलने की मांग कर रहे थे प्रदर्शनकारी, पुलिस ने फायरिंग की; 3 की मौत, 30 घायल