ट्रम्प के खिलाफ डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार बिडेन ने यौन शोषण के आरोप नकारे, कहा- अगर ये सही, तो सबूत दें

पूर्व राष्ट्रपति और आगामी राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बिडेन ने खुद पर लगे यौन शोषण के आरोपों को गलत बताया। बिडेन के मुताबिक- अगर ये आरोप सही हैं तो इनके सबूत दिए जाने चाहिए।बिडेन पर ये आरोप उनके स्टाफ में शामिल रहीं टारा रेड ने पिछले महीने लगाए थे। रेड के मुताबिक, 27 साल पहले बिडेन ने उनका यौन उत्पीड़न किया था।

बिडेन बोले- ऐसा कभी नहीं हुआ

बिडेन ने कुछ हफ्तों बाद इन आरोपों पर चुप्पी तोड़ी और सफाई दी। एमएसएनबीसी के मार्निंग शो में बिडेन ने कहा, ‘‘मैं एक वकील और एक नेता के तौर पर जिम्मेदारी समझता हूं। इसलिए, अपने स्टॉफ की एक पूर्व कर्मचारी के आरोपों पर बात करना चाहता हूं। आरोप सच नहीं हैं। ऐसा कभी नहीं हुआ।’’

पिछले महीने लगाए थे आरोप
टारा रेड ने पिछले महीने बिडेन पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए थे। उन्होंने कहा था कि 1993 में वोसीनेट ऑफिस में काम करती थीं। इस दौरान कैपिटल हिल ऑफिस के बेसमेंट में बिडेन ने उनका यौन उत्पीड़न किया था। रेड ने कहा था कि उन्होंने तब शिकायत भी दर्ज कराई थी। बिडेन के समर्थक भी आरोपों को नकारते रहे हैं। बिडेन ने चुनौती दी है कि अगर कोई शिकायत दर्ज हुई थी उसका रिकॉर्ड सामने लाएं।

नवंबर में राष्ट्रपतिचुनाव
अमेरिका में नवंबर महीने में राष्ट्रपति पद के चुनाव होने हैं। डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से उम्मीदवार जो बिडेन हैं। बिडेन को बराक ओबामा समेत अधिकतर डेमोक्रेटिक नेताओं ने अपना समर्थन दिया है। गुरुवार को स्पीकर नैंसी पेलोसी ने भी उन्हें अपना समर्थन दे दिया।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
अमेरिका के पूर्व उपराष्ट्रपति जो बिडेन। बिडेन ने 1998 और 2008 में भी डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद की दावेदारी पेश की थी। हालांकि, दोनों ही बार उन्हें उम्मीदवार नहीं बनाया गया था। (फाइल)


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2zGdTij

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान