विश्व स्वास्थ्य संगठन ने फिर दोहराया- कोरोना ग्लोबल इमरजेंसी बनी रहेगी, नई सिफारिशें भी सामने आईं

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की इमरजेंसी कमेटी की जेनेवा में 30 अप्रैल को हुई मीटिंग के बाद कोविड-19 महामारी को लेकर नई सिफारिशें जारी की गई है। संगठन के डायरेक्टर जनरल डॉ. टेड्रोस एडनैम गेब्रेसस ने घोषणा की है कि कोरोना महामारी दुनिया के लिए पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी के रूप में वैश्विक चिंता का कारण बनी रहेगी और इससे अभी जल्दी छुटकारा मिलना संभव नहीं। इस कमेटी ने दुनिया की शीर्ष स्वास्थ्य संस्था को अपनी नई सिफारिशें दी हैं।

इसी दौरान डॉ. टेड्रोस ने संगठन पर लगे आरोपों पर सफाई देते हुए कहा कि हमने 30 जनवरी को सही समय पर अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य आपातकाल घोषित करके दुनिया को महामारी से निपटने के लिए पर्याप्त समय दिया था। इमरजेंसी कमेटी के सदस्यों और सलाहकारों को टेलीकांफ्रेंस के जरिये बुलाया गया था।

इन सिफारिशों में मुख्य रूप से 6 सबहेड्स मेंसिफारिशें संगठन के स्तर पर दी गई हैं जबकि 10 सिफारिशें दुनियाभर की सरकारों और संबंधित स्टैकहोल्डर्स के लिए हैं। इन सिफारिशों में शीर्ष संस्थान से अपनी भूमिका को और ज्यादा बढ़ाने के लिए कहा गया है जबकि सरकारों से कहा गया है कि वे डब्ल्यूएचओ को उसकी गतिविधियों में मदद और बढ़ाएं।

सिफारिशोंके 10 प्रमुख पाइंट्स:

  • संगठन को चाहिए कि वह विभिन्न देशों, संयुक्त राष्ट्र और अन्य सहयोगियों के सहयोग से COVID-19 महामारी के लिए वैश्विक प्रतिक्रिया का नेतृत्व और समन्वय करना जारी रखें।
  • संकट में फंसे और कमजोर देशों के साथ काम करें जिन्हेंअतिरिक्त तकनीकी, लॉजिस्टिक और कमोडिटी सहायता की जरूरत होती है।
  • देशों, भागीदारों के अनुभवों और डब्ल्यूएचओ मिशनों से सीखे सबकको एक साथ लाने के लिए सिस्टम स्थापित करें और सबसे बढ़ियाप्रैक्टिस और अपडेटेड सिफारिशों को साझा करें।
  • महामारी की विभिन्न वैज्ञानिक स्थितियों को ध्यान में रखते हुए, सार्वजनिक स्वास्थ्य उपायों को अमल में लाने के बारे में देशों को और ज्यादा मार्गदर्शन प्रदान करें।
  • चिकित्सा उपायों और वैक्सीन के लिए क्लिनिकल परीक्षणों के लिए निम्न और मध्यम आय वाले देशों सहित सभी इच्छुक देशों को शामिल करने को बढ़ावा दें।
  • आवश्यक व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण, डायग्नोस्टिक्स, और बायोमेडिकल उपकरण तक समान पहुंच के लिए सभी भागीदारों के साथ आगे बढ़ना जारी रखें।
  • महामारी विज्ञान, प्रयोगशाला, वैक्सीन, क्लिनिकल ​​केयर, संक्रमण को काबू करने के लिए ऑपरेशनल रिसर्च,मॉडलिंगऔर अन्य तकनीकी सहायता के लिए विशेषज्ञों के वैश्विक नेटवर्क का समन्वय करना जारी रखें।
  • इस वायरस के नए क्षेत्रों में बढ़ते संक्रमण की निगरानी के लिए स्पष्ट उपयोगी और जरूरी इंडिकेटर्स प्रदान करें।
  • COVID-19 महामारी के फैलने, संक्रमण को कम करने और जीवन को बचाने के बारे में स्पष्ट संदेश, मार्गदर्शन और सलाह देनानियमित रूप सेजारी रखें।
  • महामारी के प्रतिरिस्पांस, मानवीय राहत, लोगों की आवाजाही (प्रत्यावर्तन) और कार्गो ऑपरेशन में जरूरी यात्राओं के लिए देशों और भागीदारों के साथ काम करना जारी रखें।


Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
डब्ल्यूएचओ के डायरेक्टर जनरल डॉ. टेड्रोस ने संगठन पर लगे आरोपों पर सफाई देते हुए कहा कि हमने 30 जनवरी को सही समय पर अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य आपातकाल घोषित करके दुनिया को महामारी से निपटने के लिए पर्याप्त समय दिया था।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2xs2LVJ

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान