ट्रम्प ने अखबारों से पुलित्जर पुरस्कार लौटाने को कहा, पत्रकारों को चोर बताया

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने बृहस्पतिवार को कहा कि उन अखबारों कोपुलित्जर पुरस्कार लौटा देना चाहिए, जिन्होंने अमेरिकी चुनावों में रूस के हस्तक्षेप की कवरेज की थी। उन्होंने सारी खबरों कोगलत बताते हुए पत्रकारों को चोर कहा है।

व्हाइट हाउस के ओवल ऑफिस में ट्रम्प ने रिपोर्टरों से कहा, ‘‘वे पत्रकार नहीं हैं। वे चोर हैं। वे सभी पत्रकार जिनको पुलित्जर पुरस्कार मिला है, उन्हें पुरस्कार लौटाने के लिए मजबूर किया जाना चाहिए, क्योंकि वे सभी गलत थे। आपने आज देखा, और दस्तावेज सामने आ रहे हैं, जिनसे पता चलता है कि चुनावों में रूस के साथ कोई मिलीभगत नहीं थी।’’उन्होंने यह बात तब कही जब न्याय मंत्रालय ने उनके पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जनरल माइकल फ्लिन (रिटायर्ड) के केस को खत्म करने की घोषणा की है। फ्लिन पर रूसी हस्तक्षेप के मामले में ही जांच चल रही थी।

कहा-सही लोगों को मिलना चाहिए पुलित्जर

ट्रम्प ने आगे कहा, ‘‘पुलित्जर पुरस्कार जरूर लौटा देने चाहिए, क्योंकि आपको पता है ये गलत काम पर दिए गए हैं। वे सभी गलत खबरें थीं। इसलिए ये पुरस्कार तुरंत पुलित्जर कमेटी को लौटा देने चाहिए। ये वापस नहीं होंगे तो यह पुलित्जर पुरस्कारों का अपमान होगा। पुलित्जर पुरस्कार उन लोगों को मिलना चाहिए जिन्होंने सही खबर दी थी और मैं आपको उन नामों की भी लंबी सूची दे सकता हूं, और आपको पता होगा कि मैं किसकी बात कर रहा हूं।’’

ट्रम्प ने फ्लिन को बेकसूर बताया
ट्रम्प ने कहा, ‘‘माइकल फ्लिन बेकसूर थे। वेबहुत सज्जन हैं, ओबामा एडमिनिस्ट्रेशन ने उन्हें इसलिए निशाना बताया ताकि राष्ट्रपति को नीचे गिराया जा सके। जो उन्होंने किया वह शर्म की बात है और मुझे लगता है कि उन्हें इसकी बड़ी कीमत चुकानी होगी। हमारे देश के इतिहास में ऐसा पहले कभी नहीं हुआ।उन्होंने कहा कि ओबामा एडमिनिस्ट्रेशन में शामिल लोग पकड़े गए हैं। वे बहुत बेईमान लोग हैं। यह काम उनकी बेईमानी से ज्यादा देशद्रोह का है। यह निश्चित रूप से देशद्रोह है।’’

वॉशिंगटन पोस्ट और न्यूयॉर्क टाइम्स को मिला था पुरस्कार
अमेरिका में 2016 में हुए राष्ट्रपति पद के चुनावों में रूस के हस्तक्षेप का खुलासा करने पर वाशिंगटन पोस्ट और न्यूयॉर्क टाइम्स के पत्रकारों को 2018 में पुलित्जर पुरस्कार दिया गया था।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
डोनाल्ड ट्रम्प 2016 में अमेरिका के राष्ट्रपति बने थे। उन पर रूस की मदद से चुनाव जीतने का आरोप है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3dDT4TF

Comments

Popular posts from this blog

चीन ने कहा- हमारा समुद्री अधिकार नियम के मुताबिक, जवाब में ऑस्ट्रेलिया बोला- उम्मीद है आप 2016 का फैसला मानेंगे

अफगानिस्तान सीमा को खोलने की मांग कर रहे थे प्रदर्शनकारी, पुलिस ने फायरिंग की; 3 की मौत, 30 घायल

रूलिंग पार्टी की बैठक में नहीं पहुंचे ओली, भारत से बिगड़ते रिश्ते के बीच इस्तीफे से बचने की कोशिश