भूखे बच्चे को खाना बनाने का यकीन दिलाने के लिए मां ने पत्थर उबाले, कहा- ऐसा इसलिए किया ताकि वे खाने के इंतजार में सो जाएं

केन्या में आठ बच्चों की एक मां ने अपने बच्चों को खाना बनाने का यकीन दिलाने के लिए बर्तन में पत्थर उबालने के लिए डाल दिए। महिला ने बताया कि उसने इसलिए ऐसा किया ताकि बच्चे खाना बनने का इंतजार करते-करते सो जाएं।

बीबीसी के मुताबिक, मोम्बासा में रहने वाली महिला पनिहा बहाती किसाव अनपढ़ है। वह लोगों के कपड़े धोतीहै। कोरोनावायरस की वजह से लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं। इस कारण उसका काम छिन गया है।महिलाकी पड़ोसी ने यह दुखद दृश्य देखा, तो उन्होंने मीडिया को सूचित किया। साथ ही महिला का एक बैंक अकाउंट भी खोला।

केन्या के लोग मदद को आगे आए

इसके बाद केन्या से कई लोग उसकी मदद को आगे आए। बैंक खाते में और मोबाइल फोन के जरिए महिला को लोगों ने पैसा दान करना शुरू किया। किसावो एक विधवा है। उसके पति को पिछले साल डाकुओं ने मार डाला था। वह दो कमरे के घर में रहती है, जहां न पानी की सुविधा है न बिजली की।

किसावो ने बर्तन में उबलने के लिए पत्थर डाले।

‘मेरे लिए यह किसी चमत्कार से कम नहीं’

लोगों से मिले मदद पर महिला ने टूको न्यूज वेबसाइट को बताया, ‘‘मेरे लिए यह किसी चमत्कार से कम नहीं है। मुझे विश्वास नहीं हो रहा कि केन्याई इतना प्यार कर सकते हैं। मुझे देश भर से फोन आ रहे हैं। सभी पूछ रहे हैं कि वे और कैसे मदद कर सकते हैं।’’

‘मुझे अपने छोटे बच्चे को खाना बनाने का यकीन दिलाना था’

किसावो ने बताया, ‘‘मुझे अपने सबसे छोटे बच्चे को यकीन दिलाना था कि खाना बन रहा है। वह भूख से रो रहा था। मेरे बाकी बच्चे थोड़े बड़े हैं। जब मैंने उनसे कहा कि हमारे पास खाने के लिए कुछ नहीं है, तो वे समझ गए।’’

केन्या में अब तक 411 संक्रमित हैं

केन्याई सरकार ने कोरोनोवायरस से प्रभावित लोगों के लिए फिडिंग कार्यक्रम की शुरुआत की है। लेकिन किसाव समेत कई लोगों तक यह नहीं पहुंच पाया है। वहीं, देश में 411 संक्रमित हैं, जबकि 21 लोगों की मौत हो चुकी है। बीबीसी के मुताबिक केन्या में ज्यादातर स्वास्थ्यकर्मी इस्तेमाल किए गए पीपीई को दोबारा इस्तेमाल करने पर मजबूर हैं। यहां मेडिकल इक्विपमेंट की भी भारी कमी है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
मोम्बासा में रहने वाली पनिहा किसाव। मदद मिलने पर महिला ने कहा- यह मेरे लिए किसी चमत्कार से कम नहीं है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3aZ2tDg

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान