राष्ट्रपति ट्रम्प ने डब्ल्यूएचओ को बताया को चीन की कठपुतली, बोले- कोरोना से बचने के लिए हर दिन हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन की एक गोली लेता हूं

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने एक बार फिर विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की आलोचना की है। उन्होंने सोमवार को व्हाइट हाउस में कहा,‘‘ वे (डब्ल्यूएचओ) चीन की कठपुतली है। यह कहना बेहतर होगा कि वे चीन केंद्रित हैं। अमेरिका डब्ल्यूएचओ को सालाना 450 मिलियन डॉलर (करीब 3500 करोड़ रु.) देता है। इसे कम करने की योजना बनाई जा रही है क्योंकि हमारे साथ सही बर्ताव नहीं हुआ।

उन्होंने दावा किया कि वे कोरोना से बचने के लिए हर दिन मलेरिया की दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन जिंक के साथलेते हैं। उन्होंने कहामैं पिछले डेढ़ हफ्ते से हर दिन ऐसा कर रहा हूं। जब उनसे पूछा गया कि वे यह दवा क्यों ले रहे हैं तो उन्होंने कहा,‘‘क्योंकि मैं सोचता हूं यह अच्छा है, मैंने इसके बारे में कई अच्छी कहानियां सुनी हैं।
फ्रंटलाइन पर काम करने वाले कई कर्मचारी लेते हैं यह दवा: ट्रम्प
ट्रम्प ने कहा कि आप यह जानकर हैरान होंगे कि कई लोग खास तौर पर फ्रंटलाइन पर काम करने वाले कर्मचारी यह दवा लेते हैं। मैंने भी इसे लेना शुरू किया। मुझे कई अनजान लोगों से भी मलेरिया के इस दवा की अच्छाई के बारे में फोन आए। उन्होंने न्यूयॉर्क के एक डॉक्टर का भी जिक्र किया जिसने फोन कर यह दवा अपने मरीजों को देने की बात कही। ट्रम्प ने कहा कि उस डॉक्टर ने मुझे बताया कि उसने अपने मरीजों को यह दवा दी, इसके बाद उसके एक भी मरीज की मौत नहीं हुई।
‘व्हाइट हाउस के फिजिशियन ने इसके इस्तेमाल की सलाह दी’
ट्रम्प ने कहा कि व्हाइट हाउस के एक डॉक्टर ने भी मुझे कहा कि मैं यह दवा ले सकता हूं। हालांकि, इस बारे में पहल मेरी ओर से की गई। मैँने उनसे पूछा कि आप इस दवा के बारे में क्या सोचते हैं। उन्होंने कहा अगर आप चाहेंतो ले सकते हैं। इसके बाद मैंने कहा हां, मैं यह चाहता हूं।ऐसा लगता है कि इसका असर होता। हो सकता है कुछ असर नहीं भी हो। अगर इससे कोई असर नहीं हुआ तो आप बीमार नहीं पड़ेंगे या आपकी मौत नहीं होगी। मैं हर दिन एक गोली लेता हूं। समय आने पर मैं इसे लेना बंद कर दूंगा।
एफडीए ने इस दवा का इस्तेमाल नहीं करने की चेतावनी दी थी
अमेरिकी सरकार के फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन(एफडीए) विभाग ने चेतावनी दी थी कि कोरोना के इलाज या इसे रोकने के लिए हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन का इस्तेमाल नहीं किया जाए। एफडीए ने इसके साइडइफेक्टस को ध्यान में रखते हुए यह बात कही थी। इस दवा के सेवन से कई साइड इफेक्ट सामने आए थे।कोरोना से जुड़े कई मरीजों में यह दवा लेने पर दिल से जुड़ी समस्याएं सामने आई थी। मौजूदा नियमों के मुताबिक इसका इस्तेमाल सिर्फ इमरजेंसी में किया जा सकता है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने सोमवार को एक बार फिर कहा कि हम डब्ल्यूएचओ की फंडिंग में कटौती की योजना बना रहे। उन्होंने कोरोना से बचने के लिए हाइड्रोक्सीक्लाेरोक्वीन के इस्तेमाल की भी बात कही।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3g1zjHk

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

अमेरिका में चुनाव के दिन बाइडेन समर्थकों ने 75% और ट्रम्प सपोर्टर्स ने 33% ज्यादा शराब खरीदी

124 साल पुरानी परंपरा तोड़ेंगे ट्रम्प; मीडिया को आशंका- राष्ट्रपति कन्सेशन स्पीच में बाइडेन को बधाई नहीं देंगे