ट्रम्प ने ईरान पर हमला करने से रोकने वाले प्रस्ताव को वीटो किया, बोले- यह अपमानजनक था; इसे डेमोक्रैट्स ने राष्ट्रपति चुनाव को देखते हुए पेश किया था

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कांग्रेस (संसद) में पास हो चुके एक प्रस्ताव के खिलाफ अपने वीटो पावर का इस्तेमाल किया है। ट्रम्प ने बुधवार को खुद अपने वीटो पावर के इस्तेमाल की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि मैंने ईरान के खिलाफयुद्ध शक्तियों के इस्तेमालसे संबंधित प्रस्ताव को वीटो किया है। इसमें मुझे दुश्मनी के बावजूद ईरान के खिलाफ अमेरिका के सशस्त्र बलों का इस्तेमाल नहीं करने का निर्देश दिया गया था। उन्होंने कहा, यह एक अपमानजनक प्रस्ताव था। इसे डेमोक्रैट्स ने 3 नवम्बर को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव को देखते हुए पेश किया था। यह रिपब्लिकन पार्टी को बांटकर चुनाव में जीत हासिल करने की उनकी (डेमोक्रैट्स) रणनीति का हिस्सा था।

अमेरिका ने इस साज जनवरी में एक हवाई हमले में ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड्स के कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी को मार गिराया था। इसके बाद दोनों देश के बीच तनाव बढ़ गए थे। जवाब में ईरान ने अमेरिकी सैन्य बेस पर रॉकेट दागे थे। इसके बाद ट्रम्प ने ईरान पर हमले की चेतावनी दी थी। ट्रम्प को हमले से रोकने के लिए यह प्रस्ताव अमेरिकी संसद ने पारित किया था।

13 मार्च को पारित हुआ था प्रस्ताव
अमेरिकी संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में इस साल 13 मार्च में मंजूरी मिली थी। प्रस्ताव के पक्ष में 227 और विरोध में 186 वोट पडे़। प्रस्ताव के मुताबिक, संसद की मंजूरी के बिना ईरान पर सैन्य कार्रवाई नहीं की जा सकती थी। उच्च सदन सीनेट में यह प्रस्ताव पहले ही पारित हो चुका थास। प्रतिनिधि सभा में डेमोक्रेट नेता स्टेनी हॉयर ने कहा था कि कई देश हैं, जहां एक व्यक्ति फैसले लेता है। उन्हें तानाशाह कहा जाता है। हमारे देश के निर्माता नहीं चाहते थे कि अमेरिका को तानाशाह चलाएं।
सातवीं बार किया वीटो पावर का इस्तेमाल
यह सातवीं बार है जब ट्रम्प ने अपना वीटो पावर लगाया है। ट्रम्प ने मेक्सिको सीमा पर बनी दिवार के लिए धन नहीं देने के कांग्रेस के फैसले के खिलाफ पहली बार वीटो जारी किया था। उन्होंने उस समय दिवार न देने के कांग्रेस के फैसले को लापरवाह और खतरनाक बताया था। वे सऊदी अरब को अमेरिकी सेना की मदद देने के प्रस्ताव को भी वीटो कर चुके हैं। अमेरिका ने यमन नागरिक युद्ध में सऊदी अरब की मदद के लिए अमेरिका के सैनिकों को भेजने की बात कही थी। इसके बाद यह प्रस्ताव अमेरिकी संसद में पारित हुआ था। इन दो मौकों के अलावा भी ट्रम्प पांच पर अपने वीटो पावर का इस्तेमाल कर चुके हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प बुधवार को नर्सों के सम्मान में जारी घोषणापत्र दिखाते हुए। उन्होंने अमेरिकी संसद में पारित एक प्रस्ताव के खिलाफ अपने वीटो पावर का इस्तेमाल किया।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2Wscwvi

Comments

Popular posts from this blog

चीन ने कहा- हमारा समुद्री अधिकार नियम के मुताबिक, जवाब में ऑस्ट्रेलिया बोला- उम्मीद है आप 2016 का फैसला मानेंगे

अफगानिस्तान सीमा को खोलने की मांग कर रहे थे प्रदर्शनकारी, पुलिस ने फायरिंग की; 3 की मौत, 30 घायल

रूलिंग पार्टी की बैठक में नहीं पहुंचे ओली, भारत से बिगड़ते रिश्ते के बीच इस्तीफे से बचने की कोशिश