बदल रहा है 'वर्क कल्चर', ट्विटर के सीईओ जैक डोर्सी के ऐलान के बाद कर्मचारी अब लाइफटाइम कर सकेंगे 'घर से काम'

कोविड-19 के प्रकोप के कारण दुनियाभर के कई देशों में लॉकडाउन जारी है। ज्यादातर निजी संस्थान, मल्टीनेशनल कंपनियों के कर्मचारी इन दिनों घर से ही काम कर रहे हैं। इस दौरान वर्क फ्राॅम होम का चलन कुछ कंपनियों को इतना पंसद आ रहा है कि आने वाले दिनों में वे इसे हमेशा के लिए अपना सकते हैं। सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर ने इसकी शुरूआत कर दी है। कंपनी के सीईओ जैक डोर्सी ने कहा कि उनके कर्मचारी जबतक चाहें वर्क फ्रॉम होम कर सकते हैं।

कार्यालय से काम करने के लिए कर्मचारियों को बरतनी होगी 'विशेष सावधानियां'
BuzzFeed की खबर के मुताबिक, ट्विटर के सीईओ जैक डोर्सी ने मंगलवार को अपने कर्मचारियों को ई-मेल के जरिए कहा कि महामारी खत्म होने के बाद जो कर्मचारी घर से काम करना चाहते हैं उन्हें घर से काम करने की अनुमति दी जा रही है। वे जब तक चाहें घर से काम कर सकेंगे, उन्हें एक सामान्य कामकाजी दिन की तरह ही भुगतान किया जाएगा। साथ ही कंपनी ने यह भी कहा कि अगर कोई कर्मचारी कार्यालय आना चाहता है तो उसका स्वागत होगा, लेकिन उन्हें कोरोनावायरस प्रकोप को देखते हुए कुछ विशेष सावधानियां बरतनी होगी।

कंपनी ने कहा- सितंबर से पहले नहीं खोल सकते हैं ऑफिस

सीइओ डोर्सी ने कहा कि महामारी को देखते हुए सितंबर से पहले हम ट्विटर ऑफिस को कर्मचारियों के लिए नहीं खोल सकते हैं। इसके अलावा हमने इस साल दिसंबर तक सभी इवेंट को कैंसल कर दिया है। इस दौरान कोई भी बिजनेस यात्रा नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हम इस साल के अंत में 2021 में होने वाले इवेंट्स के बारे में प्लानिंग करेंगे।

लगभग 5,000 कर्मचारियों के लिए खुला 'वर्क फ्रॉम होम' का विकल्प

बता दें कि ट्विटर का मुख्य कार्यालय सैन फ्रान्सिको, कैलिफोर्निया में है। सैन फ्रान्सिको के अलावा अटलांटा, न्यूयाॅर्क, लॉस एजेंल्स और अमेरिका के कई शहरों में भी ट्विटर के दफ्तर हैं। दुनिया भर के 20 देशों में ट्विटर के कुल 35 कार्यालय हैं। दिसंबर 2019 तक कंपनी में कुल स्थायी कर्मचारियों की संख्या 4,900 हैं। कंपनी के लगभग 5 हजार कर्मचारी अब जिन्दगीभर घर में बैठ कर काम कर सकेंगे।

गूगल और फेसबुक के कर्मचारी दिसंबर तक करेंगे वर्क फ्रॉम होम

गूगल ने पहले कहा था कि उसकी वर्क फ्रॉम होम पॉलिसी 1 जून तक लागू रहेगी, लेकिन इसने अब इसमें सात महीने का इजाफा करने का फैसला किया है। वहीं, फेसबुक ने कहा है कि इसके दफ्तर 6 जुलाई को खुल जाएंगे लेकिन कर्मचारी दिसंबर के आखिर तक वर्क फ्रॉम होम करते रहेंगे।

कंपनी के इस ऐलान से कर्मचारियों को होंगे कई फायदे-

  • आमतौर पर कर्मचारियों को वर्क लाइफ और पर्सनल लाइफ के बीच सामांज्स बैठाने में दिक्कतें होती हैं। लेकिन लाइफटाइम वर्क फ्राॅम होम के चलते अब यह आसान हो जाएगा। कर्मचारी घर के कामों के साथ दफ्तर का काम भी आसानी से कर सकेंगे।
  • घर से काम करने में कंपनियों के लेकर कर्मचारियों तक को फायदा होगा। कर्मचारियों को दफ्तर में मिलने वालीं सुविधाओं, पानी, बिजली बिल, किराए समेत कंपनी के अतिरिक्त खर्च बचेंगे। वहीं, कर्मचारियों के दफ्तर पहुंचने से लेकर अन्य एक्टिविटीज पर होने वाले खर्च के पैसे बचेंगे।
  • एक स्टडी के मुताबिक, दफ्तर के मुकाबले कर्मचारी घर से ज्यादा बेहतर काम करते हैं। दफ्तर में कर्मचारी ब्रेक ज्यादा लेते हैं। वहीं, वर्क फ्राॅम होम में महीने में 1.4 दिन ज्यादा काम कर रहे हैं। प्रोडक्टिविटी भी बढ़ी है।


Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
सीइओ डोर्सी ने कहा कि महामारी को देखते हुए सितंबर से पहले हम ट्विटर ऑफिस को कर्मचारियों के लिए नहीं खोल सकते हैं


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3dSdXdV

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

अमेरिका में चुनाव के दिन बाइडेन समर्थकों ने 75% और ट्रम्प सपोर्टर्स ने 33% ज्यादा शराब खरीदी

124 साल पुरानी परंपरा तोड़ेंगे ट्रम्प; मीडिया को आशंका- राष्ट्रपति कन्सेशन स्पीच में बाइडेन को बधाई नहीं देंगे