ड्रग तस्करी मामले में युवक को जूम कॉल से मौत की सजा सुनाई गई, देश का ऐसा पहला मामला

सिंगापुर में एक व्यक्ति को ड्रग के लेन-देन में दोषी पाए जाने के बाद जूम कॉल (वीडियो) के जरिए मौत की सजा सुनाई गई। यह देश का पहला मामला जहां दूर बैठकर किसी व्यक्ति को मौत की सजा दी गई है। कोर्ट के डॉक्यूमेंट के मुताबिक, मलेशिया के 37 साल के पुनीत गेनासन को 2011 में हुई हेरोइन के लेन-देन में उसकी भूमिका के लिए शुक्रवार को सजा सुनाई गई।

सिंगापुर सुप्रीम कोर्ट के प्रवक्ता ने कहा कि महामारी को देखते कार्यवाही में शामिल सभी लोगों की सुरक्षा को देखते हुए मामले की सुनवाई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए की गई थी। गेनासन के वकील पीटर फर्नांडो ने कहा कि जज ने जूम कॉल पर उनके क्लाइंट को मौत की सजा सुनाई। अब वे इसके खिलाफ अपील करने का विचार कर रहे हैं।

‘सुनवाई केवल जज के फैसले के लिए हुई’

मानवाधिकार समूहों ने जूम कॉल से मौत की सजा सुनाए जाने की आलोचना की है।फर्नांडो ने कहा कि शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई सुनवाई पर उन्होंने कोई आपत्ति नहीं जताई। यह सुनवाई केवल जज के फैसले सुनाने के लिए हुई थी, जिसे साफ-साफ सुना जा सकता था। इस दौरान कानूनी तौर पर कोई भी बहस नहीं की गई।

लॉकडाउन के चलते सुनवाई स्थगित

कैलिफोर्निया के टेक फर्म जूम के सिंगापुर के अधिकारियों ने इस पर अभी तक कोई जवाब नहीं दिया है। सिंगापुर में कई अदालतों की सुनवाई लॉकडाउन के कारण स्थगित कर दी गई है। जबकि जरूरी समझे जाने वाले मामलों की सुनवाई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हो रही है। राइट्स ग्रुप्स का कहना है कि सिंगापुर में अवैध रूप से ड्रग्स तस्करी के लिए जीरो-टॉलरेंस की नीति है। यहां अब तक इस मामले में सैकड़ों लोगों को फांसी दी जा चुकी है। इनमें कई विदेशी भी शामिल हैं।

मौत की सजा देना अमानवीय

ह्यूमन राइट्स वॉच के एशिया डिवीजन के डिप्टी डायरेक्टर फिल रॉबर्टसन ने कहा कि सिंगापुर में मौत की सजा का प्रावधान स्वाभाविक रूप से क्रूर और अमानवीय है। वहीं, जूम कॉल जैसे रिमोट तकनीक (दूर से) का इस्तेमाल कर मौत की सजा देना और ज्यादा अमानवीय है। नाइजीरिया में भी एक व्यक्ति को जूम कॉल के जरिए मौत की सजा दी गई थी। उन्होने इसकी भी नींदा की।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
सिंगापुर में ड्रग्स की तस्करी मामले में सैकड़ों लोगों को फांसी दी जा चुकी है। (फाइल फोटो)


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2Zkw6wL

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

अमेरिका में चुनाव के दिन बाइडेन समर्थकों ने 75% और ट्रम्प सपोर्टर्स ने 33% ज्यादा शराब खरीदी

124 साल पुरानी परंपरा तोड़ेंगे ट्रम्प; मीडिया को आशंका- राष्ट्रपति कन्सेशन स्पीच में बाइडेन को बधाई नहीं देंगे