ढाका में बूढ़ीगंगा नदी में नाव डूबने से 28 लोगों की मौत; 100 से ज्यादा लोग सवार थे, कई लापता

बांग्लादेश की राजधानी ढाका के पास बूढ़ीगंगा नदी में नाव डूबने से 28 लोगों की मौत हो गई। नाव में 100 से ज्यादा लोग सवार थे। 28 शव निकाले जा चुके हैं। कुछ लोगों ने तैरकर जान बचाई तो कुछ को निकाला गया। प्रशासन का कहना है कि कितने लोग बचाए जा चुके हैं और कितने लापता हैं, इसका पता नहीं चला। हादसा एक अन्य नाव से टकराने की वजह से हुआ।

ढाका में बूढ़ीगंगा नदी पर हादसे के बाद लोग इकट्‌ठा हो गए। हादसा दूसरी नाव से टकराने की वजह से हुआ।

ढाका से मुंशीगंज जा रही थी नाव
ढाका के पास श्यामबाजार में सोमवार सुबह 9:30 बजे हादसा हुआ। 'मॉर्निंग बर्ड' नाम की नाव मुंशीगंज से ढाका जा रही थी। सदरघाट टर्मिनल के पास इसकी 'मोयुर-2' नाम की दूसरी नाव से टक्कर हो गई। इससे मॉर्निंग बर्ड नाव डूब गई। कुछ लोगों ने तैरकर जान बचाई तो कुछ को बचाया जा सका। अभी तक 18 पुरुष, 7 महिलाओं और तीन बच्चों के शव निकाले जा चुके हैं।

हादसे में जान गंवाने वाले का रिश्तेदार फोन पर सूचना देते समय रो पड़ा। अभी कितने लोग लापता हैं, इसका पता नहीं चल पाया।

कई लोग लापता
प्रशासन ने बताया कि निकाले गए शवों की अभी पहचान नहीं की जा सकी है। अभी तक कितने लोग लापता हैं और कितने लोग बचाए जा चुके हैं इसका भीनहीं पता चला है। राहत कार्य अभी भी चल रहा है। नेवी, कोस्ट गॉर्ड की टीम और फायर सर्विस की टीम लगाई गई है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
बूढ़ीगंगा नदी में डूबे लोगों के शव निकालते सुरक्षा कर्मी। हादसा सुबह करीब 9.30 बजे हुआ।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/31qGILz

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस