मौतों के मामले में ब्रिटेन से आगे निकला ब्राजील, यहां 41,901 हजार ने दम तोड़ा; दुनिया में अब तक 77 लाख से ज्यादा संक्रमित

दुनिया में कोरोनावायरस से अब तक 4 लाख 28 हजार 210 लोगों की मौत हो चुकी है। संक्रमितों का आंकड़ा 77 लाख 31 हजार 673 हो गया है। अब तक 39 लाख 25 हजार 273 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। ब्राजील के लिए परेशानी का दौर जारी है। अब यह देश मौतों के मामले में ब्रिटेन से आगे निकल गया है। संक्रमण के बाद मौतों के मामले में ब्राजील दुनिया में दूसरे स्थान पर पहुंच गया है।यहां 41 हजार 901 लोगों की मौत हो चुकी है। ब्रिटेन में यह आंकड़ा 41 हजार 481 है। सबसे ज्यादा संक्रमण और मौतों के मामले में अमेरिका पहले स्थान पर है।

कोरोनावायरस : 10 सबसे ज्यादा प्रभावित देश

देश

कितने संक्रमित कितनी मौतें कितने ठीक हुए
अमेरिका 21,16,922 1,16,825 8,41,934
ब्राजील 8,29,902 41,901 3,96,692
रूस 5,11,423 6,715 2,69,370
भारत 3,09,603 8,890 1,54,231
ब्रिटेन 2,92,950 41,481 उपलब्ध नहीं
स्पेन 2,90,289 27,136 उपलब्ध नहीं
इटली 2,36,305 34,223 1,73,085
पेरू 2,20,749 6,308 1,07,133
जर्मनी 1,87,251 8,863 1,71,600
ईरान 1,82,525 8,659 1,44,649

ये आंकड़ेhttps://ift.tt/37Fny4Lसे लिए गए हैं।

ब्राजील : दम तोड़ते लोग
ब्राजील में शुक्रवार रात मरने वालों का आंकड़ा 41 हजार 901 हो गया। इसके साथ ही मौतों के मामले ब्राजील ब्रिटेन से आगे निकल गया। ब्रिटेन में इसी दौरान मरने वालों की संख्या 41 हजार 481 रही। कई दिन तक आंकड़े छिपाने के बाद अब ब्राजील सरकार ने अपडेट देना शुरू किया है। शुक्रवार को यहां 843 और संक्रमितों की मौत हुई। संक्रमण के लिहाज से ब्राजील पहले ही अमेरिका के बाद दूसरे नंबर पर था।

फ्रांस : यूरोप में यात्रा की इजाजत मिलेगी
फ्रांस सरकार 15 जून से कुछ यात्रा प्रतिबंध हटाने जा रही है। यहां जानकारी गृह मंत्री क्रिस्टोफी कास्टनर ने दी। यूरोपीय यूनियन से आवाजाही अब हो सकेगी। अंडोरा, आईसलैंड, मोनाको, नॉर्वे, सैन मरीनो और स्विट्जरलैंड से भी लोग आवाजाही कर सकेंगे। इन देशों से आने वालों पर क्वारैंटाइन की पाबंदियां भी लागू नहीं होंगी। स्पेन और ब्रिटेन के लिए सख्त पाबंदियां फिलहाल जारी रहेंगी। स्पेन से आने वालों को 14 दिन क्वारैंटाइन रहना होगा।

फ्रांस के एक ट्रेनिंग सेंटर में क्लास अटेंड करते स्टूडेंट्स। करीब तीन महीने बाद फ्रांस 15 जून से यूरोप के कुछ देशों के लिए अपनी सीमाएं खोलने जा रहा है।

अमेरिका : विरोध प्रदर्शनों से खतरा
अमेरिका में संक्रमण से मरने वालों का आंकड़ा एक लाख 14 हजार से ज्यादा हो गया है। जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के मुताबिक, शुक्रवार को यहां 9618 मामले सामने आए। इसी दौरान 308 लोगों की मौत हुई। मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि अश्वेत नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद हुए प्रदर्शनों की वजह से अमेरिका में संक्रमण का खतरा ज्यादा बढ़ा है। हालांकि, सरकार की तरफ से अब तक इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है।

डब्ल्यूएचओ : फीडिंग से बच्चे को खतरा नहीं
डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि ब्रेस्ट फीडिंग से संक्रमण का खतरा नहीं है। इसलिए वो महिलाएं जो संक्रमित हैं वो बच्चे को स्तनपान यानी ब्रेस्ट फीडिंग करा सकती हैं। डब्ल्यूएचओ चीफ डॉ. तेद्रोस गेब्रियेसस ने शुक्रवार को कहा, “कोविड-19 से संक्रमित या संक्रमण का संदेह होने पर भी बच्चे को फीडिंग कराई जानी चाहिए। जब तक मां बहुत ज्यादा बीमार नहीं है, बच्चे को उससे अलग नहीं किया जाना चाहिए।”

अमेरिका : फिर लग सकते हैं प्रतिबंध
अमेरिका में बढ़ते मामलों के मद्देजर एक बार फिर से प्रतिबंध लगाए जा सकते हैं। हेल्थ मिनिस्ट्री के अफसर जे बटलर ने शुक्रवार को कहा, “अगर कोरोना मामले इसी तरह बढ़ते रहे तो उसको रोकने के वही उपाय किए जा सकते हैं जो मार्च में किए गए थे। हम अब तक किसी नतीजे पर नहीं पहुंचे, लेकिन विकल्प खुले हैं।” बटलर और सीडीसी के निदेशक डॉ रॉबर्ट रेडफ़ील्ड दोनों ने अमेरिकी लोगों को कम से कम छह फीट की सोशल डिस्टेंसिंग रखने और मास्क पहनने की सलाह दी है।

अमेरिका की हेल्थ मिनिस्ट्री के एक अफसर ने शुक्रवार को कहा कि अगर देश में संक्रमण की यही रफ्तार रही तो मार्च में लगाए गए सख्त प्रतिबंध फिर लगाए जा सकते हैं। फोटो मियामी के एक हाईवे का है। यहां हेल्थ वर्कर लोगों की जांच कर रहे हैं। (फाइल)


Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
ब्राजील के रियो डि जेनेरियो के एक बीच पर शुक्रवार को सर्फिंग के लिए जातीं महिलाएं। संक्रमण के लिहाज से ब्राजील दुनिया में दूसरे स्थान पर है। मौतों के मामलों में शुक्रवार को यह ब्रिटेन से आगे निकल गया।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2UIiGro

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान