उत्तरी अफ्रीका में अल-कायदा का सरगना अब्देलमलिक मारा गया, फ्रांसीसी सेना को 7 साल से उसकी तलाश थी

फ्रांस और माली की सेना ने एक संयुक्त अभियान में उत्तरी अफ्रीका में अल-कायदा के सरगना अब्देलमलिक ड्रोकडेल को मार गिराया। शुक्रवार को फ्रांस के रक्षा मंत्रीफ्लोरेंस पर्ली ने बताया कि 3 जून को हमारी सेना ने स्थानीय सुरक्षाबलों के साथ मिलकर आतंकी अब्देल और उसके साथियों के गुप्त ठिकाने पर हमला बोला। जब वे उत्तरी अल्जीरिया के पहाड़ी इलाके में छिपे थे। ऑपरेशन में अब्देल और अल-कायदा से जुड़े कई आतंकी मारे गए।

न्यूज एजेंसी रायटर्स के मुताबिक, फ्रांस के सुरक्षाबलों को पिछले 7 साल से अब्देलमलिक की तलाश थी। वह उत्तरी अफ्रीका में आतंकियों का सबसे बड़ा सरगना था। वह स्थानीय आतंकियों को अपने संगठन जमात नुसरत अल-इस्लाम वल-मुसलमीन (जेएनआईएम) से जोड़ता था। यह संगठन अल-कायदा का सहयोगी संगठन है। माली और बुरकीना फासो समेत आसपास के देशों में जेएनआईएम का आतंक फैलता जा रहा था।

पिछले दिनों आईएस का कुख्यात आतंकी भी पकड़ा
फ्रांस के रक्षा मंत्री पर्ली ने बताया कि उत्तरी अफ्रीका में 2013 से हमारे 5200 सैनिक तैनात हैं। हमने 19 मई को ग्रेटर सहारा में इस्लामिक स्टेट के सरगना और कुख्यात आतंकी मोहम्मद अल मराबत को पकड़ने में कामयाबी हासिल की थी। इन दोनों ऑपरेशन में हमारी सेना को स्थानीय एजेंसियों का भरपूर सहयोग मिला।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
अब्देलमलिक उत्तरी अफ्रीका में आतंकियों का सबसे बड़ा सरगना था। वह अपने संगठन जमात नुसरत अल-इस्लाम वल-मुसलमीन (जेएनआईएम) से आतंकियों को जोड़ता था। (फाइल)


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/30c3TbP

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

अमेरिका में चुनाव के दिन बाइडेन समर्थकों ने 75% और ट्रम्प सपोर्टर्स ने 33% ज्यादा शराब खरीदी

124 साल पुरानी परंपरा तोड़ेंगे ट्रम्प; मीडिया को आशंका- राष्ट्रपति कन्सेशन स्पीच में बाइडेन को बधाई नहीं देंगे