यूरोप की जस्ट ईट टेकएवे फूड कंपनी ग्रुबहब के अधिग्रण की तैयारी में, $ 7.3 बिलियन में हो सकती हैं डील

यूरोपियन फूड-ऑर्डर करने वाली फर्म जस्ट ईट टेकएवे डॉट कॉम एनवी ने बुधवार को कहा कि उसने एक स्टॉक डील में यूएस पीयर ग्रूबहब इंक को खरीदने के लिए सहमति व्यक्त की है। ये सौदा अगर पूरा हो जाता है तो चीन के बाहर दुनिया की सबसे बड़ी फूड डिलीवरी कंपनी बनाएगी। ये डील 7.3 बिलियन डॉलर में हो सकती हैं।


कंपनियों ने एक संयुक्त बयान में कहा, यह सौदा एक नई कंपनी बनाएगा जो खाद्य वितरण में दुनिया के सबसे बड़े 4 प्रॉफिट वाले पूल यू.एस., यूके, नीदरलैंड और जर्मनी को साथ लेकर बनाया जाएगा। ग्रूबहब ने फूड चेन को मजबूत करने के लिए राइड-हाइलिंग फर्म उबर ईट से बात की है।


उबर ने मई में ग्रुबहब से किया था संपर्क
उबर ने मई में शिकागो स्थित ग्रुबहब से संपर्क किया था लेकिन बात नहीं बनी थी। एक बयान में, उबर ने कहा था कि खाद्य वितरण उद्योग को समेकन (एकसाथ लाना) की आवश्यकता है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हम किसी के भी साथ किसी भी कीमत पर, किसी भी सौदे को करने में रुचि रखते हैं। "


2007 से ग्रुबहब के संपर्क में है जस्ट ईट टेकएवे
ग्रुबहब के सीईओ मैट मालोनी ने कहा कि वो जस्ट ईट टेकएवे के अरबपति चीफ एक्जीक्यूटिव जित्स ग्रोएन को 2007 से जानते हैं, और दोनों कंपनियों के पास एक समान मॉडल है, जो ग्राहकों को रेस्टोरेंट खोजने और उनसे ऑर्डर लेने के लिए मार्केटप्लेस उपलब्ध कराता है। जस्ट ईट ने जनवरी में ही टेकअवे को 7.8 बिलियन डॉलर में अधिग्रहण किया है।


जस्ट ईट टेकएवे के शेयरों में आई गिरावट
इस खबर के सामने आने के बाद ग्रुबहब के शेयर की कीमत लगभग 6 फीसदी बढ़ी, वहीं जस्ट ईट टेकएवे के शेयर एम्स्टर्डम में 13 फीसदी से अधिक नीचे आ गए।

2019 में जस्ट ईट टेकएवे के पास ग्रुबहब से ज्यादा राजस्व
कंपनियों ने एक संयुक्त बयान में कहा कि जस्ट ईट टेकएवे के पास ग्रुबहब के 1.2 बिलियन यूरो की तुलना में 1.5 बिलियन यूरो (1.7 बिलियन डॉलर) का 2019 राजस्व था। एक ट्रेडिंग अपडेट में, कंपनियों ने कहा कि अप्रैल और मई में कंपनियों के ऑर्डर में 41 फीसदी की बढ़ोतरी हुई थी। क्योंकि कोरोनवायरस के कारण लोग घर पर ही खाना मंगवा रहे थे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
ग्रुबहब के सीईओ मैट मालोनी ने कहा कि वो जस्ट ईट टेकएवे के चीफ एक्जीक्यूटिव जित्स ग्रोएन को 2007 से जानते हैं, और दोनों कंपनियों के पास एक समान मॉडल है, जो ग्राहकों को रेस्टोरेंट खोजने और उनसे ऑर्डर लेने के लिए मार्केटप्लेस उपलब्ध कराता है


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2Afwnak

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान