डब्ल्यूएचओ ने पाकिस्तान से लॉकडाउन लगाने को कहा, प्रधानमंत्री इमरान पहले ही कर चुके हैं इनकार; दुनिया में अब तक 73.16 लाख संक्रमित

दुनिया में कोरोनावायरस से अब तक 4 लाख 13 हजार 623 लोगों की मौत हो चुकी है। संक्रमितों का आंकड़ा 73 लाख 16 हजार 770 हो गया है। अब तक 36 लाख 02 हजार 480 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। पाकिस्तान के लिए दोहरी मुसीबत सामने है। डब्ल्यूएचओ ने इमरान खान सरकार से फिर लॉकडाउन लगाने और इसे सख्ती से लागू करने को कहा है। खास बात ये है कि प्रधानमंत्री इमरान खान पहले ही कई बार इससे इनकार कर चुके हैं। उनका कहना है कि इससे देश की इकोनॉमी तबाह हो जाएगी।

कोरोनावायरस : 10 सबसे ज्यादा प्रभावित देश

देश

कितने संक्रमित कितनी मौतें कितने ठीक हुए
अमेरिका 20,45,549 1,14,148 7,88,862
ब्राजील 7,42,084 38,497 3,25,602
रूस 4,85,253 6,142 2,42,397
ब्रिटेन 2,89,140 40,883 उपलब्ध नहीं
स्पेन 2,89,046 27,136 उपलब्ध नहीं
भारत 2,76,146 7,750 1,34,670
इटली 2,35,561 34,043 1,66,646
पेरू 2,03,736 5,738 92,929
जर्मनी 1,86,516 8,831 1,70,200
ईरान 1,75,927 8,425 1,38,457

ये आंकड़ेhttps://ift.tt/37Fny4Lसे लिए गए हैं।

पाकिस्तान : डब्ल्यूएचओ का दबाव
विश्व स्वास्थ्य संगठन ने पाकिस्तान सरकार से फिर लॉकडाउन लगाने और इसका सख्ती से पालन कराने को कहा है। कहने को तो पिछले महीने भी पाकिस्तान ने आंशिक लॉकडाउन लगाया था लेकिन, इसका असर कहीं नहीं दिखा। रमजान के दौरान मस्जिदें खुली रहीं और ईद के दौरान बाजारों में बेहद भीड़ रही। यहां के डॉक्टर्स एसोसिएशन ने पिछले मई की शुरुआत में ही सरकार को चेतावनी दी थी कि अगर लॉकडाउन लागू नहीं किया गया तो हालात बदतर हो सकते हैं।

इमरान की मजबूरी
पाकिस्तान में मार्च के पहले हफ्ते में संक्रमण शुरू हुआ। मामले बढ़े तो प्रधानमंत्री इमरान खान पर दबाव बढ़ा। अलग-अलग प्रांतों में दिखावे का आंशिक लॉकडाउन रहा लेकिन, इसका फायदा इसलिए नहीं हुआ क्योंकि लोगों ने इसका पालन नहीं किया। इमरान ने कहा कि देश लॉकडाउन से पड़ने वाला आर्थिक बोझ सहन नहीं कर सकता। डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि पाकिस्तान में 1 लाख 8 हजार से ज्यादा मामले और 2 हजार 172 मौतें बताई गई हैं। लेकिन, असली आंकड़े इससे काफी ज्यादा हो सकते हैं।

फोटो कराची के एक बाजार का है। यहां ईद के पहले काफी भीड़ थी। सरकार ने तब भी लॉकडाउन से इनकार कर दिया था। (फाइल)

ब्राजील : 32 हजार मामले
मंगलवार का दिन ब्राजील के लिए बेहद चिंताजनक रहा। यहां कुल 32 हजार 91 नए मामले सामने आए। देश में अब तक 7 लाख 39 हजार 503 संक्रमितों की पुष्टि हो चुकी है। खास बात ये है कि यह लगातार चौथा दिन था जब देश में एक दिन में 30 हजार से ज्यादा मामले सामने आए। देश में अब तक 38 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। राष्ट्रपति बोल्सोनोरो के खिलाफ देश और दुनिया में आवाजें उठने लगी हैं। दूसरी तरफ, बोल्सोनोरो का कहना है कि महामारी की वजह से देश बंद नहीं किया जा सकता।

ब्राजील में मंगलवार को लगातार चौथे दिन 30 हजार से ज्यादा मामले सामने आए। फोटो रिकेंटो डा पेज शहर के कब्रिस्तान का है। यहां संक्रमितों को मौत के बाद दफनाया जा रहा है।

पेरू : दो लाख से ज्यादा मामले
पेरू में अब कुल मामलों की संख्या दो लाख से ज्यादा हो गई है। मंगलवार रात जारी आंकड़ों के मुताबिक, देश में कुल 2 लाख 3 हजार 736 संक्रमित हैं। 24 घंटे में 167 लोगों की मौत हुई। अब मरने वालों का आंकड़ा 5738 हो गया है। अमेरिका और लैटिन अमेरिका संक्रमण बेहद तेजी से फैला है। ब्राजील, पेरू और मैक्सिको में मामले बढ़ते जा रहे हैं।

पेरू के इक्योटोस शहर के एक अस्पताल में मौजूद डॉक्टर। देश में अब संक्रमितों का आंकड़ा दो लाख से ज्यादा हो चुका है। डब्ल्यूएचओ ने इस पर चिंता जताई है।

चीन : 3 नए मामले
यहां बुधवार को तीन नए मामलों की पुष्टि हुई। हेल्थ मिनिस्ट्री के मुताबिक, तीनों मामले उन लोगों के हैं जो दूसरे देशों से चीन आए। दूसरे देशों से आने वाले कुल 1786 मामले सामने आ चुके हैं। बयान के मुताबिक, दूसरे देशों से आए कुल 54 लोग अब भी अस्पताल में हैं। बाकी को डिस्चार्ज किया जा चुका है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
मंगलवार को पाकिस्तान के कराची रेलवे स्टेशन पर अपना मास्क ठीक करती 4 साल की तस्मीना। देश में मंगलवार को 105 लोगों की संक्रमण से मौत हुई। इसी दौरान 4646 नए मामले सामने आए।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2UJKrzV

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

अमेरिका में चुनाव के दिन बाइडेन समर्थकों ने 75% और ट्रम्प सपोर्टर्स ने 33% ज्यादा शराब खरीदी

124 साल पुरानी परंपरा तोड़ेंगे ट्रम्प; मीडिया को आशंका- राष्ट्रपति कन्सेशन स्पीच में बाइडेन को बधाई नहीं देंगे