अमेरिका ने कहा- बीजिंग के सही आंकड़े नहीं बता रहा चीन, निगरानी के लिए टीम भेजी जाए; दुनिया में अब तक 85.77 लाख मरीज

दुनिया में कोरोनावायरस से अब तक 4 लाख 56 हजार 269 लोगों की मौत हो चुकी है। संक्रमितों का आंकड़ा 85 लाख 77 हजार 196 हो गया है। अब तक 45 लाख 13 हजार 407 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। चीन की राजधानी बीजिंग में संक्रमण के दूसरे दौर के आंकड़ों पर अमेरिका ने सवाल उठाए हैं। अमेरिका ने कहा है कि चीन सरकार बीजिंग के आंकड़े सही नहीं बता रही है। अमेरिका के मुताबिक, बीजिंग के सही हालात पता करने के लिए वहां एक टीम भेजी जानी चाहिए। यह टीम वहां के हालात की निगरानी करे और सच्चाई बताएगी। चीन ने अमेरिकी मांग पर अब तक प्रतिक्रिया नहीं दी।

अमेरिका : बीजिंग के आंकड़ों पर सवाल
गुरुवार रात अमेरिका ने चीन की राजधानी बीजिंग में संक्रमण के दूसरे दौर और इसके आंकड़ों पर सवाल उठाए। अमेरिका की तरफ से जारी बयान में कहा गया- बीजिंग में संक्रमण किस हद तक है, इसका पता लगाया जाना जरूरी है। दुनिया के सामने सच आना चाहिए। हमारी मांग है कि वहां स्वतंत्र टीम भेजी जाए। यह टीम बीजिंग में संक्रमण की स्थिति और आंकड़ों की जांच करे। दूसरी तरफ, चीन ने इस मामले और अमेरिका की मांग पर चुप्पी साध ली। अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने यही मांग की है।

चीन : 32 नए मामले
चीन में 24 घंटों के दौरान संक्रमण के 32 नए मामले दर्ज किए गए। हालांकि, यह आंकड़े सरकारी हैं और इन पर सवाल उठ रहे हैं। इसकी एक वजह यह है कि राजधानी बीजिंग में ही संक्रमण का दूसरा दौर शुरू हो गया है। वहां मरीज तेजी से बढ़े हैं। चीन के मुताबिक, बीजिंग में 25 नए मामले सामने आए हैं। हेबेई में दो और लियाओनिंग प्रांत में एक मामला दर्ज किया गया। किसी भी संक्रमित की मौत नहीं हुई।

ईरान : मौतों का आंकड़ा बढ़ा
संक्रमण और मौतों के मामले में ईरान बढ़ता जा रहा है। यहां गुरुवार रात तक मरने वालों का आंकड़ा 9 हजार 272 हो गया। यह जानकारी वहां की हेल्थ मिनिस्ट्री ने एक बयान जारी कर दी। दो लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। करीब दो महीने बाद यहां गुरुवार को 100 से ज्यादा लोगों की मौत हुई। ईरान सरकार के मुताबिक, हालात से निपटने के लिए एक नई टास्क फोर्स बनाई जा रही है। यह टीम खास तौर पर उन क्लस्टर पर नजर रखेगी, जहां मामले तेजी से बढ़े हैं।

ईरान की राजधानी तेहरान के एक बाजार में मौजूद महिलाएं। ईरान में गुरुवार रात तक मरने वालों का आंकड़ा 9 हजार 272 हो गया। सरकार एक नई टास्क फोर्स बनाने जा रही है। (फाइल)

जर्मनी : नए मामले
जर्मनी के एक स्लॉटर हाउस से जुड़े 730 मामले सामने के बाद सरकार सतर्क हो गई है। इन लोगों के इलाज के साथ ही इस बात का पता लगाया जा रहा है कि आखिर इतनी बड़ी संख्या में संक्रमित होने के बावजूद इनकी जानकारी हेल्थ मिनिस्ट्री को क्यों नहीं हुई। बताया जा रहा है कि फ्रेंकफर्ट की एक मीट पैकिंग यूनिट में यह मामले सामने आए हैं। मामले सामने आने के बाद इस यूनिट को पूरी तरह बंद कर दिया गया है।

जर्मनी के ड्रेसडेन शहर में मास्क लगाए लोग। यहां फ्रेंकफर्ट की एक मीट प्रोसेसिंग यूनिट से जुड़े 730 मामले सामने आए हैं। सरकार अब यह पता लगा रही है कि एक साथ इतने लोग संक्रमित हुए तो इसकी जानकारी हेल्थ डिपार्टमेंट को क्यों नहीं हुई। (फाइल)

ब्राजील : एक दिन में 1238 लोगों की मौत
ब्राजील में 24 घंटे के दौरान 22 हजार 765 नए मामले सामने आए। कुल आंकड़ा 9 लाख 78 हजार 142 हो गया। 24 घंटे में 1238 लोगों की मौत हुई। अब मरने वालों की संख्या 47 हजार 748 हो गई है। संक्रमितों के लिहाज से ब्राजील अमेरिका के बाद दूसरे स्थान पर है। मौतों के मामलों में वो भी दूसरे स्थान पर ही है। राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो लगातार कोरोना वायरस को एक सामान्य फ्लू बताते आए हैं जिसके कारण उन्हें कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ा है।

गुरुवार को ब्राजील के साओ पाउलो शहर के एक अस्पताल में भर्ती संक्रमित पति को आईसीयू के बाहर से देखती महिला। ब्राजील में मरने वालों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। राष्ट्रपति जेयर बोल्सोनारो के समर्थकों का कहना है कि विपक्ष के सरकार पर आरोप गलत हैं।


Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
गुरुवार रात बीजिंग के एक बाजार से गुजरतीं महिलाएं। यहां संक्रमण की दूसरी लहर सामने आई है। तीन बड़े होलसेल मार्केट बंद कर दिए गए हैं। अमेरिका ने चीन पर बीजिंग के आंकड़े छिपाने के आरोप लगाए हैं।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2YNboDY

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान