डब्ल्यूएचओ ने कहा- बीते 9 दिन में रोज 1 लाख से ज्यादा मामले आए, यह किसी भी देश के लिए कोशिशों से पीछे हटने का समय नहीं

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने सोमवार को दुनिया भर के देशों को कोरोनावायरस से औरसतर्क रहने की सलाह दी। डब्ल्यूएचओ के प्रमुख टेड्रोस गेब्रेयेसस ने कहा कि दुनिया भर में पिछले 10 में से 9 दिन 1 लाख से ज्यादा मामले सामने आए। वायरस से लड़ते हुए 6 महीने हो चुके, लेकिन खतरा टला नहीं है। यह समय किसी भी देश के लिए कोशिशों से पीछे हटने का नहीं है।

ट्रेडोस ने कहा कि जिन देशों में स्थिति सुधर रही है वहां पर अब सबसे बड़ीचुनौती इससे बचाव के परहेजों का पालन करवाना है। इससे बचने के लिए सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना जरूरी है। एक नए अध्ययन मेंसामने आया है कि मास्क संक्रमण रोकने में मददगार है।

7 जून को सबसे ज्यादा मामले सामने आए
उन्होंने कहा कि दुनियाभर में 7 जून को1 लाख 36 हजार मामले सामने आए। यह एक दिन में संक्रमण केसबसे ज्यादा मामले हैं। इनमें से 75%अमेरिका और दक्षिण एशियाई देशों में मिले। डब्ल्यूएचओ संक्रमण प्रभावित देशों की मदद कर रहा है। इसने 110 देशों में 50 लाख सुरक्षा उपरकण भेजे हैं।आने वाले समय में इसकी 126 देशों में 1 करोड़ 29 लाख पीपीई किट भेजने की योजना है।

यूरोपीय देशोंमें स्थिति में सुधार
डब्ल्यूएचओ ने कहा कि यूरोप में स्थिति सुधर रही है। उन्होंने कहा कि पहले संक्रमण का एपिसेंटर पूर्व एशिया था। इसके बाद यूरोप में यह तेजी से फैला। अब इसकी जगह अमेरिका ने ले ली है। हालांकि, यूरोपीय देशों में अब स्थिति सुधर रही है, लेकिन दुनिया के दूसरे हिस्सों में हालात बदतर हो रहे हैं। खास कर अफ्रीकी देशों में यह बीमारी तेजी से बढ़ रही है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
दक्षिण अफ्रीका के जोहानेसबर्ग में सोमवार को एक छात्रा को हैंड सैनिटाइजेर देता स्कूल का कर्मचारी। डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि कोरोना संक्रमण फिलहाल अफ्रीकी देशों में तेजी से बढ़ रहा है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2AUFxsM

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

अमेरिका में चुनाव के दिन बाइडेन समर्थकों ने 75% और ट्रम्प सपोर्टर्स ने 33% ज्यादा शराब खरीदी

124 साल पुरानी परंपरा तोड़ेंगे ट्रम्प; मीडिया को आशंका- राष्ट्रपति कन्सेशन स्पीच में बाइडेन को बधाई नहीं देंगे