अब आरोपी की गर्दन नहीं पकड़ सकेंगे मिनेपोलिस के अफसर; फ्लॉयड की बेटी ने कहा- पिता ने दुनिया बदल दी

अश्वेत नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद अब मिनेसोटा राज्य के मिनेपोलिस शहर की पुलिस किसी आरोपी को गर्दन से नहीं पकड़ सकेगी। इस पर बैन लगा दिया गया है। फ्लॉयड की मौत उनकी गर्दन पर पुलिस अफसर के घुटने से पड़े दबाव की वजह से ही हुई थी। जॉर्ज मिनेपोलिस शहर के ही रहने वाले थे। यहां के मेयर जैकब फ्रे ने कहा- हमें सुधारों की सख्त जरूरत है।

बेटी का वीडियो वायरल
जॉर्ज की 6 साल की बेटी गियाना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसमें वो पूर्व एनबीए प्लेयर स्टीफन जैक्सन के कंधे पर बैठी नजर आ रही है। जैक्सन जॉर्ज के करीबी दोस्त हैं। वीडियो मिनेपोलिस में हो रहे विरोध प्रदर्शन के दौरान का है। इसमें गियाना कहती है- मेरे पापा (डैडी) ने दुनिया बदल दी। जैक्सन इसका समर्थन करते हैं। बहरहाल, अमेरिका में जॉर्ज को इंसाफ दिलाने के लिए प्रदर्शन जारी हैं। यहां कुछ तस्वीरें.... । लेकिन, उससे पहले नन्हीं गियाना का यह दिल छू लेने वाला वीडियो। जिसमें वो कहती है- पापा ने दुनिया बदल दी।

मिनेसोटा के मिनेपोलिस शहर में जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या हुई थी। यहीं विरोध प्रदर्शन सबसे ज्यादा हो रहे हैं। शुक्रवार को भी यहां लोगों ने रैली निकाली। इसमें श्वेत और अश्वेत दोनों समुदायों के लोग शामिल हुए।
ब्रोंक्स में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच बहस हुई। इसके बाद पुलिस ने कुछ प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया। यहां नेशनल गार्ड्स के हेलिकॉप्टर्स भी आसमान से नजर रख रहे थे।
मैनहट्टन में पुलिस ने सख्ती दिखाई। यहां कुल लोग बैनर और पोस्टर लेकर मार्च निकाल रहे थे। पुलिस ने इन पर बल प्रयोग किया। यहां कुल 19 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया गया।
तस्वीर मिनेपोलिस की है। यहां जॉर्ज फ्लॉयड का एक स्केच बनाकर रखा गया है। इस पर लोग फूल रखकर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं। कुछ मैसेज भी यहां लिखे गए हैं।
यह तस्वीर भी मिनेपोलिस शहर की है, जहां जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या हुई थी। लोगों ने सड़क पर ही पहले बेस पेंट किया और बाद में उस पर जॉर्ज की तस्वीर बना दी।
तस्वीर बोस्टन की है। यहां मेन रोड पर लोग रैली निकाल रहे थे। इसी दौरान करीब के घरों में मौजूद लोग भी प्लेकार्ड्स और बैनर लेकर बाहर निकले। इन लोगों ने भी जॉर्ज के लिए इंसाफ की मांग की।
फ्लॉयड के पहले मेनुएल एलिस की नाम के एक अश्वेत की मौत भी पुलिस के हाथों हुई थी। शुक्रवार को वॉशिंगटन में लोगों ने जॉर्ज के साथ एलिस को भी इंसाफ दिलाने के लिए आवाज बुलंद की।
यह तस्वीर भी वॉशिंगटन की है। शुक्रवार रात यहां अलग-अलग स्थानों पर जॉर्ज और एलिस को इंसाफ दिलाने के लिए लोग शांतिपूर्ण प्रदर्शन के लिए से सड़कों पर उतरे।
तस्वीर वॉशिंगटन के टकोमा की है। यहां अश्वेतों की बड़ी आबादी है। जॉर्ज को इंसाफ दिलाने के लिए लोग सड़कों पर उतरे। एक दौरान एक शख्स ने अमेरिकी झंडे को चेहरे पर मास्क के तौर पर लपेट लिया। इस पर लिखा था- आई कान्ट ब्रीद। यानी मैं सांस नहीं ले पा रहा हूं।
न्यूयॉर्क के सामने दोहरी परेशानी है। यहां महामारी का खतरा बना हुआ है। दूसरी तरफ जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। यहां रात का कर्फ्यु भी लगा हुआ है। शुक्रवार रात जब कर्फ्यु तोड़कर विरोध प्रदर्शन हुए तो पुलिस ने कई लोगों को हिरासत में ले लिया।
जी हां, रंग भेद गलत है। मिनेपोलिस में जब जॉर्ज को इंसाफ दिलाने के लिए मुख्य सड़क पर प्रदर्शनकारी मार्च निकाल रहे थे. उसी वक्त अपने घर के बाहर यह बच्ची यह प्लेकार्ड लेकर खड़ी थी। इस पर लिखा था- मैं अश्वेत हूं और इस पर मुझे गर्व है।
कैलिफोर्निया के सांता मोनिका बीच पर लोग समंदर कि किनारे ठंडी लहरों का आनंद लेने निकले। लेकिन, दिमाग में जॉर्ज को इंसाफ दिलाने का जुनून है। शुक्रवार शाम की तस्वीर यही कहानी बयां करती है।
तस्वीर कैलिफोर्निया की है। सांता मोनिका में एक विरोध प्रदर्शन और रैली हुई। इसमें सैकड़ों लोग जुटे। इस दौरान यह लड़की इस अंदाज में नजर आई। उसके मास्क पर लिखा था- नस्लभेद खत्म किया जाना चाहिए।
वॉशिंगटन में बारिश और खराब मौसम भी प्रदर्शनकारियों के हौसले नहीं डिगा सका। जॉर्ज को न्याय दिलाने की मांग को लेकर प्रदर्शन चल रहा था। तभी तेज बारिश शुरू हो गई। पुलिस ने हटाने की कोशिश की तो कुछ लोग सड़कों पर ही लेट गए।


Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
जिंदा रहने के लिए सांस जरूरी है। जॉर्ज इसलिए दुनिया में नहीं है क्योंकि एक हैवान पुलिस अफसर ने उससे ईश्वर और प्रकृति का दिया यह अधिकार छीन लिया था। एक अश्वेत की रखवालों के हाथ मौत ने अमेरिका, दुनिया और इंसानियत को झकझोर दिया। कोई इंसान किसी दूसरे से सांस लेने का हक कैसे छीन सकता है। यही सवाल हुक्मरानों से पूछा जा रहा है। तस्वीर वॉशिंगटन की है। शुक्रवार को यहां जॉर्ज को इंसाफ दिलाने की मुहिम के तहत लगातार 10वें दिन विरोध प्रदर्शन हुए। इस दौरान हाथ में प्लेकार्ड लिए महिला।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2Ug2Y6G

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान