बलूचों ने पाकिस्तान की सेना पर पत्थर बरसाए, डर की वजह से जवान अपनी पोस्ट छोड़कर भागे

पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में एक महिला और 4 साल की बच्ची की हत्या के बाद प्रदर्शन हो रहेहैं। बलूचों ने गुरुवार को सीमा के पास स्थितबारबचा इलाके में पाकिस्तान की सेना पर पत्थर बरसाए। सेना की एक चेक पोस्टमें भी आग लगा दी। हिंसक प्रदर्शन से डरकर सेना के जवान अपनी पोस्ट छोड़कर भाग गए।

घटना के वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किए जा रहे हैं। ऐसे ही एक वीडियो बलूचिस्तान पोस्ट ने शेयर किया है। इसमेंहजारों प्रदर्शनकारी पाकिस्तानी सैनिकों पर पत्थरबाजी करते दिखाई दे रहे हैं। इस जगह पर सेना के टैंक भी खड़े थे। लेकिन, पत्थरबाजी तेज होते ही सैनिक पोस्ट छोड़कर भाग खड़े हुए। इसके बाद प्रदर्शनकारियोंने सेना कीचेक पोस्ट में आग लगा दी।

तुरबत में महिला और बच्ची की हत्या की गई
बलूचिस्तान में यह प्रदर्शन दो हफ्ते से चल रहे हैं। दो हफ्ते पहले यहां के तुरबत शहर में एक महिला मलिकनाज और उसकी चार साल की बेटी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि बलूचिस्तान की सरकार चला रही बलूचिस्तान आवामी पार्टी (बीएपी) के सदस्यों ने ही हत्या की है।

पाकिस्तान मुस्लिम लीग (एन) और पाकिस्तान मुस्लिम लीग (क्यू) के कुछ सदस्यों ने मिलकर 2018 में बीएपी बनाई थी। 2018 में बलूचिस्तान में हुए चुनावों में बीएपी सबसे बड़ी पार्टी बनी थी। इमरान खान सरकार में भी बीएपीशामिल है।

बलूच लिबरेशन आर्मी को खत्म करने का अभियान चला रही सेना
अरब न्यूज ने इंटेलिजेंस सूत्रों के हवाले से बताया कि पाकिस्तान की सेना ग्राउंड जीरो क्लियरेंस ऑपरेशन चला रही है। इस ऑपरेशन के तहत बलूचिस्तान की आजादी की मांग करने वाली बलूच लिबरेशन आर्मी और बलूच लिबरेशन फ्रंट को खत्म किया जा रहा है। बीते कुछ दिनों में बलूच और पख्तून नेताओं की हत्या के कई मामले सामने आए हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
बलूचों ने सीमा के पास स्थित बरबचा इलाके में हिंसक प्रदर्शन किया। पाकिस्तानी सेना की चेक पोस्ट में भी आग लगा दी। - फाइल फोटो


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3fhbc6C

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

फ्रांस में फिर एक दिन में 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आए, ब्रिटेन में प्रतिबंधों का विरोध; दुनिया में 3.30 करोड़ केस