स्नैपचैट ने ट्रम्प की पोस्ट को बढ़ावा देना बंद किया; प्लेटफार्म का मानना है कि राष्ट्रपति नस्लीय हिंसा भड़काते हैं

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म स्नैपचैट ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की पोस्ट को बढ़ावा देनाबंद कर दिया है। उनका मानना है कि राष्ट्रपति नस्लीय हिंसा को भड़काते हैं। दरअसल, 25 मई कोअमेरिका में अश्वेत नागरिक जॉर्ज फ्लॉयडकी पुलिस के हाथों मौत हो गई थी। हालांकि,फ्लॉयड की मौत के अगले दिन घटना में शामिल सभी चार पुलिस अफसरों को बर्खास्त कर दिया गया।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक,अमेरिकी पुलिस अधिकारियों ने जॉर्ज की गर्दन को आठ मिनट 46 सेकंड तक घुटने से दबाए रखा था, दम घुटने से मौत हो गई थी। इसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। इसके बाद से अमेरिका के कई शहरों में प्रदर्शन शुरू हो गए।हिंसा और लूटपाट हुई। कई शहरों में कर्फ्यू भी लगा।

ट्रम्प बोले- लिंकन के बाद मेरी सरकार ने सबसे ज्यादा अश्वेतों के लिए काम किया

इस बीच, ट्रम्प ने मंगलवार को कहा था कि मेरी सरकार ने पूर्व राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन के बाद अश्वेत समुदाय के लिए सबसे ज्यादा काम किया है। उन्होंने कहा, ‘अश्वेतों के कॉलेजों के लिए फंड की गारंटी दी, क्रिमिनल जस्टिस रिफॉर्म लाया गया।देश में अश्वेतों में बेरोजगारी, गरीबी और अपराध दर सबसे कम है।’

पुलिस अफसर दम घोंटता रहा, बाकी लोगउसे छोड़ देने की अपील करते रहे

अश्वेत की मौत की घटना के कुछ वीडियोज सामने आए। कुछ घटनास्थल पर मौजूद लोगों ने बनाए तो कुछ सिक्युरिटी सर्विलांस कैमरों में दर्ज हुए। पुलिस ने फ्लॉयड पर जो भी तरीके आजमाए वो विभागीय नियमों का उल्लंघन हैं। पुलिस अफसर दम घोंटता रहा, जॉर्ज ही नहीं बाकी लोग भी उसे छोड़ देने की अपील करते रहे। लेकिन, पुलिस की बर्बरता के आगे किसी की एक न चली।

बयानबाजी से और बढ़ा तनाव

  • राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने खुद को लॉ एंड ऑर्डर प्रेसिडेंट करार दिया औरकहा किअगर हिंसा जारी रही तो सेना की तैनाती होगी।
  • इसके बाद अगले ही दिन पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले छोड़े और रबर की गोलियां चलाईं।
  • इससे पहले भी ट्रम्प ने प्रदर्शनकारियों को गोली मारने और उन पर भयानक कुत्ते छोड़ने की वॉर्निंगदी थी।
  • इन बयानों से दुखीह्यूस्टन पुलिस चीफ ने कहा-अगर कुछ अच्छा बोलने के लिए नहीं है तो प्लीज कुछ मत बोलें।


Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के बयानों से दुखी ह्यूस्टन पुलिस चीफ ने कहा था कि यदि कुछ अच्छा बोलने के लिए नहीं है तो मत बोलें। -फाइल फोटो


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/36VDIrc

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

अमेरिका में चुनाव के दिन बाइडेन समर्थकों ने 75% और ट्रम्प सपोर्टर्स ने 33% ज्यादा शराब खरीदी

124 साल पुरानी परंपरा तोड़ेंगे ट्रम्प; मीडिया को आशंका- राष्ट्रपति कन्सेशन स्पीच में बाइडेन को बधाई नहीं देंगे