माल्या को किसी भी वक्त प्लेन से मुंबई लाया जा सकता है, ब्रिटेन में उसके प्रत्यर्पण की सारी औपचारिकताएं पूरी

भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या को किसी भी वक्त भारत लाया जा सकता है। ब्रिटेन में उसके प्रत्यर्पण की सभी औपचारिकताएं पूरी कर ली गई हैं। न्यूज एजेंसी आईएएनएस को बुधवार को सूत्र ने बताया कि मुंबई में माल्या के खिलाफ केस दर्ज है और ऐसे में उसे मुंबई लाया जाएगा।
9 हजार करोड़ रुपए के लोन डिफॉल्ट मामले में विजय माल्या भारत में वांटेड है। 2 मार्च 2016 को विजय माल्या भारत छोड़कर लंदन पहुंचा था।

गुरुवार को कोर्ट में पेश किया जा सकता है माल्या
सूत्र के मुताबिक, माल्या के साथ सीबीआई और ईडी के अधिकारी भी रहेंगे। मुंबई एयरपोर्ट पर मेडिकल टीम उसकी जांच करेगी। अगर उसे बुधवार रात लाया जाता है, तो उसे सीबीआई दफ्तर में रात गुजारनी होगी। अगले दिन उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा। यहां सीबीआई और ईडी उसकी कस्टडी की मांग कर सकती हैं।

लंदन हाईकोर्ट खारिज कर चुका है माल्या की अपील
14 मई को लंदन हाईकोर्ट ने विजय माल्या की भारत प्रत्यर्पण के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील करने की इजाजत देने की मांग वाली याचिका खारिज कर दी थी। इस अपील के खारिज होने के बाद अब उसको 28 दिनों में भारत लाया जाना है। 20 दिन बीत चुके हैं और उसके प्रत्यर्पण की तैयारियां भी पूरी हो चुकी हैं। माल्या के पास अब कोई कानूनी विकल्प नहीं बचा है।

ब्रिटिश कोर्ट को ऑर्थर रोड जेल की डिटेल दे चुकी हैं एजेंसियां
अगस्त 2018 में ब्रिटेन की कोर्ट ने माल्या के मामले की सुनवाई के दौरान जांच एजेंसियों को उस जेल की जानकारी पेश करने को कहा था, जहां भारत में माल्या को रखा जाना था। तब जांच एजेंसियों ने मुंबई की ऑर्थर रोड जेल का वीडियो भी लंदन की कोर्ट में दिखाया था। जांच एजेंसियों ने कहा था कि दो मंजिला इस जेल में माल्या को हाई सिक्युरिटी बैरक में रखा जाएगा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
14 मई को लंदन हाईकोर्ट ने विजय माल्या की भारत प्रत्यर्पण के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील करने की इजाजत देने की मांग वाली याचिका खारिज कर दी थी।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3eKfbYY

Comments

Popular posts from this blog

चीन ने कहा- हमारा समुद्री अधिकार नियम के मुताबिक, जवाब में ऑस्ट्रेलिया बोला- उम्मीद है आप 2016 का फैसला मानेंगे

अफगानिस्तान सीमा को खोलने की मांग कर रहे थे प्रदर्शनकारी, पुलिस ने फायरिंग की; 3 की मौत, 30 घायल

रूलिंग पार्टी की बैठक में नहीं पहुंचे ओली, भारत से बिगड़ते रिश्ते के बीच इस्तीफे से बचने की कोशिश