अमेरिकी सैनिकों पर इनाम रखने वाली रिपोर्ट को लेकर बिडेन ने ट्रम्प की निंदा की, रूस ने इस खबर को बकवास बताया

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बिडेन ने एक रिपोर्ट को लेकर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि अगर यह रिपोर्ट सच है तो इसमें कमांडर इन चीफ और अफगानिस्तान में अमेरिकी सैनिकों की रक्षा करने में उनकी (ट्रम्प) नाकामी के बारे में हैरान करने वाले खुलासे हैं।न्यूयॉर्क टाइम्स ने शुक्रवार को बताया कि अमेरिकी खुफिया अधिकारियों ने कुछ महीनों पहले पता लगाया था कि रूस कीखुफिया सैन्य इकाई ने अफगानिस्तान में अमेरिकी सैनिकों की हत्या के लिए तालिबान से जुड़े आतंकियों को गुप्त रूप से इनाम देने की पेशकश की थी।

रूस ने आरोपों का खंडन किया
रूस ने इन आरोपों का खंडन किया है। रूस ने शनिवार को ट्वीट किया- यह आरोप बेबुनियाद और अस्पष्ट हैं। ट्वीट में कहा गया है कि इन आरोपों से अमेरिका के वॉशिंगटन और ब्रिटेन के लंदन स्थित रूसी दूतावासों के कर्मचारियों का जीवन प्रत्यक्ष खतरे में आ गए हैं। तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने भी आरोपों को निराधार बताया। मुजाहिद ने एनवाईटी से कहा कि फरवरी में सेना की वापसी करने और प्रतिबंध हटाए जाने पर सहमति बनने के बाद तालिबान ने अमेरिका और नाटो सेना पर हमला करना बंद कर दिया था।

रिपोर्ट में कहा गया है कि रूसियों ने पिछले साल ऐसे समय में हमले के लिए पेशकश की थी, जब अमेरिका और तालिबान लंबे समय से चल रहे संघर्ष को खत्म करने के लिए बातचीत कर रहे थे। अमेरिकी अखबार वॉशिंगटन पोस्ट ने भी इस खबर की पुष्टि की है।

ट्रम्प ने कोई कार्रवाई नहीं की: बिडेन

बिडेन ने वर्चुअल टाउन हॉल में शनिवार को कहा कि अगर एनवाईटी की रिपोर्ट सही है तो यह मामलाचौंकाने वाला है। मैं यह पूछना चाहता हूं कि अमेरिकी सेना के कमांडर इन चीफ राष्ट्रपति ट्रम्प पहले से यह सब जानते थे और उन्होंने क्यों नहीं कुछ किया।

‘मैं राष्ट्रपति बना तो रूस पर प्रतिबंध लगाएंगे’

बिडेन ने कहा- अगर मैं राष्ट्रपति बनता हूं तो इस बारे में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का सामना किया जाएगा। हम रूस पर गंभीर प्रतिबंध लगाएंगे। हालांकि, इस पर व्हाइट हाउस ने बताया है कि ट्रम्प और उपराष्ट्रपति माइक पेंस को इस खुफिया सूचना की जानकारी नहीं दी गई थी।

एनवाईटी में शुक्रवार को प्रकाशित किए गए आर्टिकल में सरकारी सूत्रों के हवाले से लिखा गया था कि राष्ट्रपति को अमेरिकी सैनिकों को मारे जाने पर इनाम देने वाली जानकारी के बारे में जानकारी दी गई थी। इसके बाद भी वे कार्रवाई करने में नाकाम रहे थे। एनवाईटी ने तालिबान के एक प्रवक्ता के हवाले से यह जानकारी दी थी। इसमें बताया गया था कि उसके लड़ाकों और रूसी खुफिया एजेंसी के बीच ऐसी डील हुई थी।

ट्रम्प हमेशा पुतिन के सामने झुके रहे हैं: बिडेन

न्यूज पेपर ने बताया कि खुफिया एजेंसी के अज्ञात अधिकारियों के हवाले से उन्हें जानकारी मिली कि इसके बारे में ट्रम्प को बताया गया था। मार्च में नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल में इस पर चर्चा भी की गई थी।पूर्व उपराष्ट्रपति बिडेन ने कहा कि यह अंतरराष्ट्रीय कानून का गंभीर उल्लंघन है। वे (ट्रम्प) न केवल रूस पर प्रतिबंध लगाने में नाकाम रहे, बल्कि पुतिन के सामने खुद को हमेशा झुकाए रखा। उनका यह अभियान अब तक जारी है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
बिडेन ने शनिवार को वर्चुअल टाउन हॉल में कहा कि अगर एनवाईटी की रिपोर्ट सही है तो यह मामला पूरी तरह से चौंकाने वाला है। राष्ट्रपति ट्रम्प ने जानकारी मिलने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3ghJcjN

Comments

Popular posts from this blog

ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ रही; बिडेन 43% लोगों की पसंद तो ट्रम्प को 40% लोगों का साथ, जुलाई में यह अंतर 7% से ज्यादा था

ट्रम्प मेक अमेरिका ग्रेट अगेन के नारे के साथ इस साल चुनाव जीतना चाहते हैं, जिनपिंग चीन की इमेज सुधारने की कोशिश में हैं

इटली में लाॅकडाउन पालन कराने के लिए 8000 मेयर ने मोर्चा संभाला; सड़काें पर उतरे, फेसबुक से समझाया फिर भी नहीं माने ताे ड्राेन से अपमान